1. मशीनरी

एस्कॉर्ट के इलेक्ट्रिक ट्रैक्टर को मिला देश का पहला बुदनी सर्टिफिकेट, 5 महीने चला परीक्षण

सिप्पू कुमार
सिप्पू कुमार

प्रतीकात्मक तस्वीर

एस्कॉर्ट लिमिटेड कंपनी के ट्रैक्टर को एक बार फिर बड़ी सफलता हाथ लगी है. दरअसल फरीदाबाद में बने इस कंपनी के ट्रैक्टर को भारत सरकार ने देश का पहला सीएमबीआर प्रमाण पत्र दिया है.

बुदनी की तरफ से मिला सर्टिफिकेट

ये सम्मान बुदनी की तरफ से कंपनी को मिला है, जिसके बाद एस्कॉर्ट लिमिटेड देश की पहली इलेक्ट्रिक से चलने वाली प्रमाणित ट्रैक्टर बन गई है. बता दे कि बिजली से चलने वाली इस ट्रैक्टर की कीमत लगभग 15 लाख रुपए रखी गई है.

इन कामों में हो सकता है उपयोग

इस ट्रैक्टर का उपयोग बड़ी आसानी से अंगूर, संतरे, पपीते, आदि बागवानी कायों के लिए हो सकता है. इसके साथ ही इसका उपयोग बोझा उठाने के लिए भी किया जा सकता है. बता दें कि इस ट्रैक्टर को एस्कॉर्ट लिमिटेड के फरीदाबाद शाखा ने बनाया है.

5 महीने हुआ परीक्षण

एस्कॉर्ट द्वारा इलेक्ट्रिक से चलने वाले ट्रैक्टर को बनाने के बाद भारत सरकार के बुदनी स्थित संस्थान के पास लाया गया. यहां इसका पांच महीनों तक कड़ा परीक्षण किया गया, जहां ये सभी कसौटियों पर खरा उतरा.

चार घंटे बिना रूके चलेगा

बता दें कि एक बार अच्छे से चार्ज होने के बाद यह ट्रैक्टर चार घंटे तक दमदार प्रदर्शन कर सकता है. इसके अंदर 300 एंपियर की बैटरी लगाई गई है, जो 72 वोल्ट की है. मात्र 1150 किलो वाला यह ट्रैक्टर 400 किलो तक का वजन बड़ी आसानी से उठा सकता है.

आगे बदलाव जारी रहेगा

इस बारे में कंपनी ने कहा कि फिलहाल इस ट्रैक्टर को प्रथम चरण में बनाया गया है, आने वाले समय में इसकी क्षमता बढ़ाई जाएगी. कंपनी का दावा है कि यह ट्रैक्टर डीजल से चलने वाले ट्रैक्टरों के मुकाबले 77 प्रतिशत अधिक किफायती होगा. आने वाले समय में इसका काम ग्रीन हाउसों, खड़ी फसलों एवं गहरे जुताई कार्यों, कीटनाशकों के छिड़काव आदि में किया जाएगा.

English Summary: Escorts becomes the first company to get Budni Certification in India for Electric Tractor

Like this article?

Hey! I am सिप्पू कुमार. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News