1. मशीनरी

आम ट्रैक्टरों से इस तरह अलग है 4 डब्लू डी ट्रैक्टर, जानिए खेती में क्यों है लाभदायक

सिप्पू कुमार
सिप्पू कुमार

किसान भाईयों आपने 4 ✕4 ट्रैक्टरों के बारे में जरूर सुना होगा और आपके मन में भी ऐसे सवाल आते होंगे कि आखिर आम ट्रैक्टरों के मुकाबले इनमें क्या खास है. जुताई या अन्य कामों में इनका प्रदर्शन किस तरह अधिक उम्दा है, ऐसे सवाल भी आपके मन में आते होंगे. चलिए आज हम आपको बताते हैं कि 4 ✕4 ट्रैक्टर जिन्हें 4 व्हील ड्राइव ट्रैक्टर भी कहा जाता है, उनकी मांग क्यों बढ़ती जा रही है.

4 व्हील और 2 व्हील में फर्क

4 व्हील ड्राइव का मतलब है कि आपके ट्रैक्टर के चारो चक्को में पावर दिया गया है. चारो चक्के मशीन की शक्ति से घुमते हैं, जिससे पहियों की पकड़ सामान्य से अधिक मजबूत होती है. जबिक 2 व्हील ट्रैक्टर्स में ऐसा नहीं होता, उसके सिर्फ 2 पहियों में पावर दिया जाता है और अन्य दो पहिये निर्भरता के भरोसे घुमते हैं.

4 व्हील की विशेषता

2 व्हील ट्रैक्टर के पावर वाले पहिये अगर काम के वक्त जमीन में फंस जाते हैं, तो बाकि के दो पहिए लाचार हो जाते हैं. ऐसा इसलिए होता है क्योंकि बाकि के पहिये मशीन की शक्ति से संचालित नहीं होते. पावर वाले पहियों के फंसने के बाद ट्रैक्टर को वहां से निकालना मुश्किल हो जाता है. वहीं 4 व्हील ट्रैक्टर के चारो टायर में एक समान पावर होने के कारण अगर पिछला पहिया फंस भी जाता है, तो आगे के दोनो पहिये जोर लगाकर गाड़ी को खींच लेते हैं. 

खेती में जरूरत

आम गाड़ियां सीधी-सपाट सड़को पर चलती है, इसलिए वो 2 व्हील ड्राइव में आसानी से सफर तय कर लेती है. लेकिन ट्रैक्टर का काम कीचड़, मिट्टी, गिट्टी, बालू, पत्थर उठाने के लिए होता है. खेतों में इसका उपयोग जुताई के लिए होता है. आसान भाषा में समझा जाए, तो इसे मुख्य रूप से खराब रास्तों पर ही चलना है. ऐसे में फोर व्हील ड्राइव के तहत चारों पहियों की जमीन पर पकड़ इसे मजबूती प्रदान करती है.

अधिक मेंटेनेंस

हालांकि कंपनियां ऐसा दावा करती है कि कम देखभाल में भी 4X4 के ट्रैक्टर को रखा जा सकता है. लेकिन सच्चाई ये है कि इन्हें अधिक देखभाल की जरूरत होती है. इसके कई कारण है, जैसे- ज्यादा मूविंग पार्ट का होना, ज्यादा गियर का होना या ज्यादा पूर्जों का होना आदि.

भारत में बिकने वाले सबसे अधिक 4 व्हील टैक्टर

भारत में 4 व्हील ट्रैक्टरों का कॉन्सेप्ट अभी कुछ नया है, इसलिए इसका मार्केट उतना बड़ा नहीं है. गांव-देहातों में अधिकतर लोग 2 व्हील के पुरान ट्रैक्टर ही उपयोग कर रहे हैं. हालांकि कुछ राज्यों में, जैसे- पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, आंध्र प्रदेश आदि में 4 व्हील ट्रैक्टर का मार्केट तेजी से बढ़ रहा है. हमारे यहां सबसे अधिक 4 व्हील ट्रैक्टरों में जॉन डियर 5050 D - 4WD, स्वराज 963 एफ ई 4WD, महिंद्रा जीवो 225 डीआई 4WD, स्वराज 963 एफ ई 4WD और पॉवर ट्रैक यूरो 45 प्लस- 4WD की बिक्री होती है.

English Summary: 4 w d tractors meaning specialties advantages characteristics and top companies

Like this article?

Hey! I am सिप्पू कुमार. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News