1. मशीनरी

Farm Machinery: अब सरकारी विभाग से किराए पर भी मिलेंगे कृषि यंत्र, यहां पढ़ें पूरी खबर

कृषि अभियांत्रिकी विभाग की तरफ से किसानों को दो नए कृषि यंत्रों (Agricultural machinery) दी जाएंगी. जिनकी मदद से किसान भाई मक्का, अरहर, भिंडी और कई प्रकार की सब्जियों की खेती कर सकते हैं...

लोकेश निरवाल
Agricultural machinery
Agricultural machinery

किसानों की सुविधा के लिए सरकार से लेकर कई संस्थाएं बेहतरीन योजनाओं पर कार्य करती रहती हैं. इसी क्रम में किसान भाइयों के लिए कई बेहतर कृषि यंत्र बाजार (Agricultural machinery market) में उपलब्ध हैं, जो खेती के बड़े से बड़े कार्यों को कम समय में सरलता से पूरा कर सकते हैं.

आज हम आपको अपने इस लेख में मक्का, अरहर, भिंडी और कई प्रकार की सब्जियों की खेती करने के लिए कृषि उपकरणों (farm equipment) के बारे में बताने जा रहे हैं, जिनकी मदद से आप आसानी से खेती करके लाभ कमा सकते हैं. तो आइए इन कृषि मशीनरी (agricultural machinery) के बारे में जानते हैं...

कृषि यंत्र से खेती हुई आसान (Farming made easy with agricultural machinery)

किसानों के लिए रिज्ड बेड प्लाटर यंत्र व डायरेक्ट राईस सीडर कृषि यंत्र किसी वरदान से कम नहीं है. इन दोनों यंत्रों की सहायता से सब्जियों की खेती करना बहुत सरल हो गया है. इनकी मदद से किसान खेत में खाद व बीज का छिड़काव कम समय में आसानी से कर सकते हैं. ध्यान रहे कि पहली बार इसका इस्तेमाल करने पर किसान खेत में कतार सूखा बोनी करें. किसान भाई इसका इस्तेमाल अपने खेत में खरीफ व रबी के मौसम (Kharif and Rabi seasons) में कर सकते हैं.

इन यंत्रों पर किसानों की राय (Farmers' opinion on these machines)

जिला कृषि अभियांत्रिकी विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि, किसानों के कार्यों को आसान बनाने के लिए कार्यालय की तरफ से इस साल शासन से दो नए कृषि यंत्र मिले हैं, जो धमतरी के किसानों के लिए बेहद लाभकारी है. इस विषय में किसानों का कहना है कि, यह सब हमारे लिए एक दम नया है. इनकी मदद से अब खेत में कतार बोनी, रोपाई की तरह सूखा बोनी को आसानी से किया जा सकेगा. इसमें बीज को रखकर खेत में आसानी से बुवाई कर सकते है और जुताई के समय भी इनका इस्तेमाल किया जा सकता है.

ऐसे मिलेंगे यह कृषि यंत्र (This is how agricultural machines will be found)

अगर कोई किसान भाई खरीफ फसलों की खेती (Kharif farming) शुरू करने से पहले इन दोनों यंत्रों की मांग करना चाहते हैं, तो वह सरलता से इन्हें किराए पर ले सकते हैं. इसके लिए उन्हें अधिक खर्च करने की भी जरूरत नहीं पड़ेगी. विभाग की तरफ से इन यंत्रों को प्रति घंटा 550 रुपए किराए के हिसाब से दिया जाएगा.

इसके अलावा किसानों को इन दोनों यंत्रों के साथ रोटावेटर, प्लाऊ, ट्रैक्टर व अन्य कई कृषि यंत्र (farm machinery) भी किराए पर दिए जाते हैं. 

English Summary: agricultural machines will also be available on rent from government department Published on: 20 June 2022, 04:45 IST

Like this article?

Hey! I am लोकेश निरवाल . Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News