Machinery

खरपतवार से परेशान किसानों के लिए ये है आधुनिक और बेहतर उपाय

किसान जब किसी भी फसल की खेती करते हैं तो पौधों के सही विकास और उनके पोषण (nutrients) के लिए खेत में उर्वरक (fertilizer) और सिंचाई (irrigation) का पूरा ध्यान रखते हैं. सही मात्रा में पानी और खाद पौधों के लिए बहुत ज़रूरी है जिससे किसानों को सही समय पर अच्छा उत्पादन मिल सके. अगर इस तरह के पोषण तत्व, जो कि केवल पौधों के लिए ही हैं, खरपतवार के साथ बंट जाएँ तो पौधों के सही विकास के लिए यह उचित नहीं है. ऐसे में खेतों की फसल के साथ उगे हुए अनचाहे खरपतवार का नियंत्रण करना बहुत ज़रूरी है.  

आपको बता दें कि कुछ खरपतवार कीट और रोग कारक जीवाणुओं के उतपन्न होने का कारण भी होते हैं. हम यूँ भी कह सकते हैं कि इस तरह के खरपतवार फसल को नुकसान पहुंचाने वाले कीटों के परपोषी होते हैं. इनका असर फसल उत्पादन पर भी पड़ता है. यही वजह है कि आज हम आपको बताने जा रहे हैं कि किसान किस तरह इन खरपतवार से छुटकारा पा सकते हैं. हम आपको कुछ आधुनिक कृषि उपकरणों (farm equipments) के बारे में बताने जा रहे हैं जिनकी मदद से आप खरपतवार पर नियंत्रण पा सकते हैं.

हुक टाइप ड्राई लैंड पेग वीडर (Dry land peg weeder)

हुक टाइप वाला यह कृषि उपकरण एक हस्तचालित यंत्र है जिसे किसान या कोई भी आसानी से हाथ से चला सकता है. यह उपकरण फसल की पंक्तियों के बीच खरपतवार को नष्ट कर देता है. इसमें आपको एक रोलर मिलता है जिसमें लोहे की रॉड की मदद से फिट की गई दो डिस्क लगी होती है. रॉड पर छोटे आकार के हुक जुड़े होते हैं. इसके साथ ही रोलर असेम्बली नरम लोहे से बना होता है और इस रोलर असेम्बली के पीछे हैंडल के रॉड पर ब्लेड लगे होते हैं. इसकी ख़ास बात यह है कि आपके अपने मुताबिक ब्लेड की ऊंचाई रख सकते हैं. इसके हुक मिट्टी में गड़ाकर घुमाव प्रक्रिया द्वारा मिट्टी को बारीक करते हैं और इसे दबाने की स्थिति मे ब्लेड जमीन में घुसकर खरपतवार को जड़ से खत्म कर देते हैं. किसान भाई इसका इस्तेमाल सब्जी वाले खेतों और बागों में कर सकते हैं.

व्हील हैंड हो (Wheel hand hoe)

इस यंत्र का इस्तेमाल कई किसान करते हैं और यह काफी सफल भी रहा. यह उपकरण भी फसल की पंक्तियों के बीच खरपतवार को नष्ट करता है. इसमें आपको एक लम्बा हैंडल मिलता है जो आगे-पीछे धकेलने और खींचने से काम करता है. इसमें एक या दो पहिये होते हैं जिनका व्यास इसके डिज़ाइन के मुताबिक दिया गया होता है. इसमें आपको सीधे ब्लेड, वी-ब्लेड, प्रतिवर्ती ब्लेड, स्वीप, टाइन कल्टीवेटर, कुदाल, लघु आकारीय फरोअर, स्पाईक हैरो (रेक) लगाने की भी सुविधा मिलती है. इसे आप असानी से चला सकते हैं. इसमें भी आप अपने मुताबिक हैंडल की ऊंचाई को व्यवस्थित कर सकते हैं.

कोनो वीडर (Cono weeder)

इस वीडर में दो रोटर, फ्लोट, फ्रेम और हैंडल शामिल होते हैं. रोटर की सतह पर लंबाई मे चौरस दाँतेदार स्ट्रिप्स दिए गए होते हैं. इसमें मौजूद फ्लोट, रोटर और हैंडल फ्रेम के साथ जुड़े होते हैं. आपको बता दें कि फ्लोट कार्य की गहराई को नियंत्रित करते हैं और साथ ही रोटर असेंबली को मिट्टी में धंसने से बचाता है. यह वीडर दबाव प्रक्रिया से चालित किया जाता है. इसका इस्तेमाल किसान पंक्तियुक्त धान की फसल में खरपतवार हटाने के लिए भी कर सकते हैं.

स्वचालित रोटरी पावर वीडर (Automatic rotary power weeder)

यह आधुनिक कृषि उपकरण डीज़ल इंजन चालित यंत्र है. इसमें गहराई बनाए रखने के लिए पीछे की तरफ एक पहिया दिया जाता है. इस रोटरी वीडर की विभिन्न पंक्तियों में हर एक डिस्क पर एक-दूसरे की विपरीत दिशा में घुमावदार ब्लेड दिए जाते हैं. इस मौजूदा ब्लेड के घूमने से मिट्टी और घास आदि कट जाते हैं. यह उपकरण 400 मि.मी. चौड़ाई में कार्य कर सकता है. किसान इसका इस्तेमाल गन्ना, मक्का, कपास, टमाटर, बैंगन और दलहन जैसी फसलों में खरपतवार निकालने के लिए कर सकते हैं.



English Summary: advanced farm equipments in agriculture for farmers

Share your comments


Subscribe to newsletter

Sign up with your email to get updates about the most important stories directly into your inbox

Just in