1. लाइफ स्टाइल

World Milk Day: कब और कैसे हुई थी विश्व में दुग्ध दिवस की शुरूआत, जानें इसका महत्व और इतिहास

कंचन मौर्य
कंचन मौर्य

हर साल 1 जून को विश्व दुग्ध दिवस मनाया जाता है. लगभग 20 साल पहले इस दिवस को मनाने की शुरूआत की गई थी. इस दिवस की शुरूआत यूनाइटेड नेशन ने की. इसका उद्देश्य है कि दुनियाभर के लोगों को दूध की महत्व के प्रति जागरुक किया जाए. बता दें कि दुनियाभर में दूध से भी सबसे ज्यादा पोषक खाद्य पदार्थ बनाए जाते हैं. इसके अलावा यह दिवस डेयरी क्षेत्र के लिए भी बहुत खास है.

आपको बता दें कि 1 जून 2001 को सबसे पहले विश्व दुग्ध दिवस मनाया गया था. कई  रिपोर्ट्स में दूध पीने के अगिनत फायदे बताए गए है. भारत को दुनिया का सबसे बड़ा दुग्ध उत्पादक देश भी कहा जाता है.  यहां दूध और उसके बने उत्पादों जैसे पनीर और मिल्क पाउडर का निर्माण किया जाता है, साथ ही बहुत बड़े सत्र पर निर्यात भी किया जाता है. दुनियाभर में विश्व दुग्ध दिवस को एक खास थीम के सात मनाते हैं. इसके साथ ही जागरुकता फैलाई जाती है.

दूध से होने वाले फायदे

  • इसका सेवन शरीर को मजबूत बनाता है.

  • अगर गाय के कच्चे दूध से चेहरे की मसाज की जाए, तो तेहरा गोरा, चमकदार और बेदाग बनता है.

  • दूध पाचन तंत्र को मजबूत बनाता है. यह पाचन से जुड़ी कई समस्यों में राहत देता है.

  • दूध ब्लड सेल्स को बढ़ाने में भी मददगार साबित है.

  • इसका सेवन कई रोगों का इलाज करता है.

  • शरीर में कैल्शियम की मात्रा को बढ़ाता है.

  • आंखों की रौशनी बढ़ती है, साथ ही आंखों की खूबसूरती बढ़ती है.

ये खबर भी पढ़ें: Fennel Tea Benefits: सौंफ की चाय करती है सेहत से जुड़ी कई बीमारियों का इलाज, मिनटों में हो जाएगी तैयार

English Summary: World Milk Day is observed every year on 1 June

Like this article?

Hey! I am कंचन मौर्य. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News