1. लाइफ स्टाइल

Lockdown: वर्क फ्रॉम होम में बढ़ गया है मोटापा, तो अपनाएं ये टिप्स

कंचन मौर्य
कंचन मौर्य

देश में कोरोना वायरस (Coronavirus) की वजह से लॉकडाउन (Lockdown) लगा दिया गया है. ऐसे में कई लोग वर्क फ्रॉम होम (Work From Home) कर रहे हैं. घर बैठे काम करना आसान लगता है, लेकिन असल में यह उतना आसान नहीं है. आपको ऑफिस में टेबल चेयर पर बैठकर एक सिस्टम पर काम करना होता है. मगर वर्क फ्रॉम होम में यह मुमकिन नहीं है. इस दौरान आप अपना लैपटॉप लेकर बिस्तर पर बैठकर या लेटकर काम करने लगते हैं. ऐसा करने से कई बार स्ट्रेस काफी ज़्यादा लगने लगता है. इसके साथ ही पेट और कमर के आसपास की चर्बी भी बढ़ सकती है. ऐसे में आपको कुछ टिप्स बताने जा रहे हैं, जिनको अपनाकर पेट की चर्बी कम कर सकते हैं.

घुलनशील फाइबर का सेवन

आप अपने आहार में उन पदार्थों को शामिल करें, जिनमें घुलनशील फाइबर (Soluble fiber) ज्यादा पाया जाता है. यह फाइबर कैलोरी को सोख लेता है. इसके लिए आप अलसी का बीज, शिराताकी नूडल्स, ब्रसल स्प्राउट, एवोकेडो, फलियां और काले शहतूत का सेवन कर सकते हैं. बता दें कि इन फ़ूड में फाइबर प्रचुर मात्रा में पाया जाता है.

ट्रांस फैट वाले खाद्य पदार्थों न खाएं

पेट की चर्बी का ट्रांस फैट से गहरा संबंध है. अगर आप ट्रांस फैट वाले पदार्थ ज्यादा खाते हैं, तो आपका वजन बढ़ सकता है.

तनाव से मुक्त रहें

अगर आप तनाव ज्यादा लेते हैं, तो आपके कमर और पेट के आसपास की चर्बी को बढ़ सकती है, इसलिए आपको तनाव मुक्त रहना है. कई शोध में बताया गया है कि अगर कोर्टिसोल हार्मोन की मात्रा ज़्यादा होती है, तो आपको भूख काफी तेजी से लगती है. इससे पेट की चर्बी बढ़ जाती है.

अल्कोहल बहुत कम मात्रा में लें

शराब का सेवन ज्यादा करने से भी बेली फैट यानी पेट की चर्बी बढ़ जाती है. ऐसे में आपको शराब का सेवन संतुलित मात्रा में करना चाहिए. आपको ऐसे खाद्य पदार्थों का सेवन करना चाहिए, जिनमें प्रोटीन की मात्रा ज्यादा हो. जैसे फिश, दाल, और बीन्स आदि.

ये खबर भी पढ़ें: Business Idea: सिर्फ 10 हजार रुपए में शुरू करें ये बिजनेस, कमाएं लाखों का मुनाफ़ा

English Summary: work from home has increased belly fat, so be sure to follow these tips

Like this article?

Hey! I am कंचन मौर्य. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News