Lifestyle

घर की रसोई में करें सर्दी-जुकाम का इलाज, जल्द मिलेगी राहत

सर्दियों के मौसम में ज्यादातर लोग सर्दी, खांसी, बुखार जैसी बीमारियों से परेशान रहते हैं. लोग ठंड से बचने के लिए गर्म कपड़े तो पहन लेते है, लेकिन फिर भी हमारे शरीर पर ठंड का असर हो जाता है, इसलिए ठंड से बचाने के लिए शरीर को अंदर से भी गर्म रखना जरूरी है. अधिकतर लोग ठंड लगने पर डॉक्‍टर के पास जाते है और अंग्रेजी दवा भी खाते है, लेकिन अब सर्दियों में ठंड से बचने के लिए डॉक्टर के पास जाने की जरुरत नहीं है. जी हां आज हम आपको कुछ ऐसे नुस्खे बताने जा रहे है, जिनका उपयोग आप ठंड से बचने के लिए कर सकते है. इसके लिए आपको किसी डॉक्टर के पास जाने की जरुरत नहीं है. इन नुस्खों को आप अपने घर में ही कर सकते है, जोकि आपको कई सारी बीमारियों से बचा कर रखेंगे.

आपको बता दें कि सर्दियों में ठंड में दूर रहने के लिए लौंग, तुलसी, काली मिर्च और अदरक से बनी चाय 'रामबाण  का काम करती है. इससे खांसी, सर्दी, जुकाम नहीं होता है. कहा जाता है कि इन छोटी बीमारियों से ही वायरस का बढ़ता प्रसार है. अगर आपको जुकाम है, तो इससे बहुत जल्दी जुकाम एक वायरस फैलता है, क्योंकि यह एक संक्रामक बीमारी है. नाक, बुखार, सुखी या गीली खांसी जैसी बीमारियां ही श्वसन तंत्र पर अचानक हमला करती है, इसलिए जरुरत है कि हम सभी इससे बचे. तो आइए ऐसे ही कुछ उपायों के बारे में बताते, जोकि सर्दियों में आपको होने वाली छोटी-छोटी बीमारियों से बचाएंगे.

ठंड से बचने के लिए खाएं बाजरे की रोटी

सर्दी के मौसम में बाजरे की रोटी खाने का बहुत फायदा मिलता है. यह रोटी हमारे शरीर को गर्म रखती है. इसमें प्रोटीन, विटामिन बी, कैल्शियम, फाइबर और एंटी ऑक्सीडेंट जैसे तत्व पाए जाते है, जोकि हमारे शरीर के लिए अच्छे होते हैं. ठंड में बच्चों समेत बड़े लोगों को भी इसका सेवन करना चाहिए.

ठंड में आंवला करेगा कमाल

इस लेख को पढ़ने वालों में से बहुत लोग जानते होंगे कि डायबिटीज से परेशान लोगों के लिए आंवला अमृत के समान होता है. प्राचीन आयुर्वेदिक प्रणाली से ही इसका उपयोग कई तरह के रोगों का इलाज करने में किया जा रहा है. साफ शब्दों में कहा जाए, तो इसका उपयोग करीब 5000 साल से इस्तेमाल किया जा रहा है. यही वजह है कि इसकी तुलना अमृत से की गई है. आंवला में विटामिन सी, विटामिन एबी, पोटैशिम, कैलशियम, मैग्नीशियम, आयरन, कार्बोहाइड्रेट, फाइबर और डाययूरेटिक एसिड होता है

ठंड में शहद होगा अमृत

सर्दियों के मौसम में बच्चों और बुजुर्गों का खास ध्यान रखना पड़ता है. ऐसे में शहद का उपयोग कर सकते है. इसका सेवन करने से शरीर को कई तरह की रोगों से छूटकारा मिलता है. आयुर्वेद में भी शहद को अमृत माना गया है. आपको बता दें कि जुकाम होने पर रात को सोने से पहले एक ग्लास गुनगुने दूध में 1 चम्मच शहद मिलाकर पीने से यह खत्म हो जाता है. ये हमारे शरीर के इम्युन सिस्टम  को दुरुस्त करता है.

अन्‍य उपाय

इसके अलावा मूंगफली और तिल के तेल से मालिश करने पर भी ठंड से बचा जा सकता है. अच्छा होगा कि आप सर्दी के मौसम में मौसमी और संतरा खाने से बचें. इसकी जगह खजूर को गर्म दूध के साथ खा सकते है. इससे सर्दी से राहत मिलती है.



Share your comments