1. लाइफ स्टाइल

Organic and Herbal Rang: घर पर बेहद आसान तरीके से बनाएं हर्बल रंग, फिर खेलिए होली

कंचन मौर्य
कंचन मौर्य
Holi 2021

Holi 2021

होली (Holi 2021) का त्योहार आ गया है. ऐसे में केमिकल वाले रंगों की बाजार में भरमार लगी है. इनके इस्तेमाल से स्किन में एलर्जी और आँखों में जलन जैसी दिक्कत हो जाती है. यानी इन रंगों से स्किन को काफी नुकसान पहुंचता है, इसलिए केमिकल रंगों से बचना बहुत ज़रूरी है.

कोशिश करें कि आप होली (Holi 2021) ऑर्गेनिक या हर्बल रंगों से खेलें. बता दें कि इन रंगों की पहचान होना भी बहुत जरूरी है. ये खासकर स्किन के लिए फायदेमंद होते हैं, साथ ही आंखों को भी नुकसान नहीं पहुंचाते हैं. आइए आपको ऑर्गेनिक या हर्बल रंग बनाने की प्रक्रिया बताते हैं.

चुकंदर से बनाएं लाल रंग

इस समय चुकंदर आसानी से मिल जाते हैं. आप इन्हें घिसकर पानी में उबाल लें, फिर आपका लाल रंग तैयार है. अगर आप गहरा पिंक रंग बनाना चाहते हैं, तो इसमें पानी ज्यादा मिलाएं. इसे पीसकर पेस्ट भी बना सकते हैं. खास बात यह है कि यह रंग आंख और मुंह को नुकसान नहीं पहुंचाते हैं.

मक्के के आटे और हल्दी से बनाएं पीला रंग

अगर आप पीले रंग से होली खेलना चाहते हैं, तो इस रंग को बनाने के लिए हल्दी को जौ या मक्के के आटे में मिलाएं. यह डेड स्किन हटाकर नैचुरल स्क्रब की तरह काम करेगा. इसके अलावा हल्दी को अरारोट या चावल के पाउडर में भी मिलाकर इस्तेमाल कर सकते हैं.

पलाश और गेंदे के फूल से बनाएं केसरिया रंग

आप गेंदे के फूलों का इस्तेमाल करके केसरिया रंग बना सकते हैं. इसके अलावा 100 ग्राम पलाश के सूखे फूल को एक बाल्टी पानी में उबाल लें, फिर वैसे ही भिगोकर रात भर के लिए रख दें. इसे सवेरे छान लें. इस तरह गाढ़ा केसरिया रंग तैयार हो जाएगा.

नीम की पत्तियों से बनाएं हरा रंग

इसके लिए नीम की पत्तियों को पीस लें. इस पेस्ट को पानी में मिलाकर भी रंग खेला जा सकता है. यह फेस पैक की तरह काम करता है. बता दें कि नीम एंटीबैक्टीरियल और एंटी एलर्जिक होने के कारण स्किन के लिए काफी फायदेमंद होता है.  

English Summary: Play Holi by making herbal colors very easy at home

Like this article?

Hey! I am कंचन मौर्य. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News