Lifestyle

खुजली-गंजापन या हो डायबिटीज, सबका इलाज है जोंक थेरेपी

जोंक या लीच के बारे में आमतौर पर लोगों को इतना ही पता है कि वो शरीर पर चिपक जाएं तो सारा खून चूस जाते हैं. लेकिन इस बात का ज्ञान कम ही लोगों को होगा कि जोंक कई तरह के उपचार में फायदेमंद होते है. लीच थेरेपी से रोगों का इलाज प्राचीन काल से होता आया है. इससे कई ऐसे रोगों का उपचार भी संभव है जिसके इलाज़ में बहुत अधिक पीड़ा होती है या पैसा लगता है. चलिए आज आपको कुछ लीच थेरेपी के बारे में कुछ रोचक बाते बताते हैं.

लीच थेरेपी

यह बहुत ही आसान लेकिन प्रभावी थेरेपी है. इसमें जोंक को शरीर पर रख दिया जाता है. जोंक खून चूसना शुरू कर देती है और धीरे-धीरे सारा दूषित खून पी जाती है. इस उपचार में 45 मिनट तक का समय लग सकता है. यह तरीका दाद, कील-मुहांसे, खुजली, गंजापन, डायबिटीज आदि बीमारियों में बहुत ही राहत भरा है. इस थेरेपी के माध्यम से हमारे शरीर का गंदा खून निकल जाता है और हमारे शरीर में ऑक्सीजन वाले खून का संचार होता है.

डायबिटीज
शरीर की मृत कोशिकाओं को हटाने में जोंक को महारत हांसिल है. इसलिए डायबिटीज के रोगियों के लिए ये फायदेमंद हैं. इससे जख्म भरने शुरू हो जाते हैं उनकी शुगर का लेवल भी नियंत्रित होने लगता है.

सावधानी
जोंक थेरेपी को लेने से पहले किसी डॉक्टर की सालाह लेना जरूरी है. कई लोगों को जोंक की लार से एलेर्जी होने की शिकायत होती है. वहीं, जिन लोगों का इम्यून सिस्टम कमजोर है, उन लोगों को थेरेपी लेने से बचना चाहिए. इसी तरह अगर बीमारियों के उपचार के लिए पहले से आप किसी दवा का सेवन कर रहे हैं या किसी दवा का कोर्स चला रहे हैं तो एक बार डॉक्टर की सलाह जरूर लें.



English Summary: Hirudotherapy Leech Therapy know more how its work

Share your comments


Subscribe to newsletter

Sign up with your email to get updates about the most important stories directly into your inbox

Just in