1. लाइफ स्टाइल

मात्र 5 मिनट में होगा हृदय कैंसर रोगियों का इलाज, जानिए कैसे?

कंचन मौर्य
कंचन मौर्य

Heart Cancer

दुनियाभर में कैंसर एक गंभीर बीमारी बन चुकी है. इसके कारण कई लोगों की जान जाती रहती है, लेकिन इसके इलाज को धीरे-धीरे सरल और किफायती बनाने की दिशा में लंबे समय से काम किया जा रहा है. इस कड़ी में कैंसर के इलाज को लेकर लंदन के वैज्ञानिकों को एक बड़ी कामयाबी मिली है.

दरअसल, वैज्ञानिकों नें एक विशेष प्रकार की सूई का आविष्कार किया है, जिसकी मदद से हृदय कैंसर से पीड़ित रोगियों का इलाज बहुत आसान तरीके से हो जाएगा. अब हृदय कैंसर से पीड़ित रोगियों को कीमोथेरेपी में ढाई घंटे बर्बाद करने की जरूरत नहीं होगी, क्योंकि बस 5 मिनट के भीतर ही इस सूई की मदद से प्रभावी तरीके से इलाज किया जाएगा. कैंसर रोगियों के इलाज की दिशा में यह एक वरदान के रूप में है. आइए आपको इस बारे में विस्तार से बताते हैं.

नए तरीके से होगा हृदय कैंसर का इलाज

नेशनल हेल्थ सर्विस (एनएचएस) इंगलैंड ने जानकारी दी है कि एक नए तरीके से इलाज करके हृदय कैंसर के रोगियों का इलाज किया जा सकेगा. इसके तहत कीमोथेरेपी से गुजरने वाले हृदय कैंसर के रोगियों का इलाज पीएचईएसजीओ नामक पद्धति से किया जाएगा. इसके लिए रोगियों को बस एक इंजेक्शन देने की आवश्यकता होगी.

सबसे खास बात यह है कि इस प्रक्रिया में सिर्फ 5 मिनट का समय लगेगा. अब तक रोगियों का इलाज उपचार करते समय 2 इनफ्यूजनों यानी कीमोथेरेपी में दवा शरीर में पहुंचाने की प्रक्रिया में दो से ढाई घंटे का समय लगता था. मतलब यह है कि इलाज में लगने वाला समय को सीमित किया जा सकेगा. इस तरीके के लिए दवा निर्माता कंपनी के साथ एनएचएस की करार हुई है. उम्मीद है कि हर साल 3600 से ज्यादा मरीजों को लाभ मिल सकेगा.

एनएचएस के राष्ट्रीय क्लीनिकल निदेशक (कैंसर) पीटर जॉनसन का कहना है कि नई सूई हृदय कैंसर रोगियों के इलाज अवधि बहुत घटा सकती है. बता दें कि एनएचएच मरीजों को कोविड-19 से दूर रखते हुए अहम कैंसर इलाज करने में कामयाब हुआ है. यह हृदय कैंसर रोगियों के लिए बहुत अच्छी खबर हो सकती है.

English Summary: Heart cancer patients will be treated in just 5 minutes

Like this article?

Hey! I am कंचन मौर्य. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News