1. सरकारी योजनाएं

डाकघर मासिक आय योजना में 50,000 जमा कर पाएं 3300 रुपए की पेंशन

कंचन मौर्य
कंचन मौर्य

Post Office Monthly Income Scheme

जो लोग रिटायर होने वाले हैं, वे अब डाकघर द्वारा दी जाने वाली विभिन्न योजनाओं में निवेश कर रहे हैं. सेवानिवृत्ति के बाद उनके जीवन को बेहतर बनाने के लिए, राज्य समर्थित योजनाएं निवेशकों को सुरक्षित और आकर्षक रिटर्न प्रदान करती हैं.

बता दें कि भारतीय डाक एक मासिक आय योजना (एमआईएस) प्रदान करता है, जो निवेशकों को नियमित मासिक पेंशन की गारंटी देता है. इस विशेष योजना में एकमुश्त निवेश करना होता है. इस तरह लोकप्रिय योजना निवेश और परिपक्वता लाभ प्रदान करती है.

डाकघर मासिक आय योजना (Post Office Monthly Income Scheme)

डाकघर मासिक आय योजना (Post Office Monthly Income Scheme) वर्तमान में जमा पर 6.6 प्रतिशत की वार्षिक ब्याज दर प्रदान करती है. योजना का अधिक से अधिक लाभ प्राप्त करने के लिए निवेशक योजना के तहत संयुक्त खाता भी खोल सकते हैं.

दिलचस्प बात यह है कि डाकघर मासिक आय खाता योजना (Post Office Monthly Income Scheme) के तहत 3 निवेशक संयुक्त खाता खोल सकते हैं. आप इस योजना में 100 रुपए या 1000 रुपए के गुणकों में निवेश कर सकते हैं.

हालांकि, आपको इस योजना में कम से कम 1000 रुपए का निवेश करने की आवश्यकता है, जबकि योजना के तहत अधिकतम निवेश 9 लाख रुपए है. इस योजना के तहत आप मात्र 50,000 रुपए का निवेश करके 3300 रुपए प्रतिवर्ष की पेंशन प्राप्त कर सकते हैं. पांच साल के लिए निवेशकों को ब्याज से पहले कुल 16,500 रुपए ब्याज के रूप में मिलेंगे.

उल्लेखनीय है कि अधिक पेंशन पाने के लिए आप इस योजना में अधिक पैसा निवेश कर सकते हैं. अगर आप इस योजना में 1 लाख रुपए का निवेश करते हैं, तो आपको 6600 रुपए या 550 रुपए प्रतिमाह पेंशन मिलेगी.

इसी तरह आप एमआईएस योजना के तहत 2475 रुपए या 29700 रुपए मासिक पेंशन पाने के लिए 4.5 लाख रुपए जमा कर सकते हैं या ब्याज के रूप में 148500 रुपए प्राप्त कर सकते हैं.

English Summary: post office monthly income scheme will get rs 3300 pension by depositing 50,000

Like this article?

Hey! I am कंचन मौर्य. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News