MFOI 2024 Road Show
  1. Home
  2. सरकारी योजनाएं

PM Fasal Bima Yojana: किसान कर्ज और फसल बर्बादी के नुकसान से बचने के लिए उठाएं इस योजना का लाभ

किसानों की संख्या काफी अधिक है, जो कर्ज के सहारे खेती करते हैं. एक फसल तैयार होने तक उनकी हालत ऐसी नहीं रह जाती कि वो दूसरी खेती भी कर सकें. ऐसे में उन्हें दूसरों से कर्ज लेकर अपनी खेती-बाड़ी करनी पड़ती है. कृषि करते समय इन किसानों को कई तरह के जोखिमों का सामना करना पड़ता है.

प्राची वत्स
प्राची वत्स
PM Fasal Bima Yojana
क्या है फसल बिमा योजना ?

भारतीय अर्थव्यवस्था के नींव की बात करें, तो कृषि कार्य में अगर उछाल या गिरावट दर्ज की जाती है, तो इसका सीधा प्रभाव देश की अर्थव्यवस्था (Economy) पर दिखने लगता है. देश की एक बहुत बड़ी आबादी खेती करके अपना जीवन यापन करती है. देश के अन्नदाता कहे जाने वाले किसानों को कई चुनौतियों का सामना करना पड़ता है.

क्या है देश के किसानों की आर्थिक स्थिति (What is the economic condition of the farmers of the country)

मौजूदा हालात को देखें, तो किसानों की आर्थिक स्थिति ठीक नहीं है. भारत सरकार ने आजादी के बाद किसानों की आय में बढ़ोतरी करने के उद्देश्य से कई योजनाएं चलाईं, लेकिन जमीनी स्तर उसका सफल परिणाम कुछ ख़ास निकल कर नहीं आया. भारत में ऐसे किसानों की संख्या काफी अधिक है, जो कर्ज के सहारे खेती करते हैं. एक फसल तैयार होने तक उनकी हालत ऐसी नहीं रह जाती कि वो दूसरी खेती भी कर सकें. ऐसे में उन्हें दूसरों से कर्ज लेकर अपनी खेती-बाड़ी करनी पड़ती है. कृषि करते समय इन किसानों को कई तरह के जोखिमों का सामना करना पड़ता है.

कभी कीटनाशकों, कभी जंगली जानवरों का तो कभी प्राकृतिक आपदाओं जैसी समस्याओं का सामना करना पड़ता है. उनकी फसल की गुणवत्ता कैसी होगी, ये बात मौसम चक्र और वर्षा पर निर्भर करती है. भारत में हर साल किसानों को मौसम की मार झेलनी पड़ती है. इस कारण उन पर कर्ज का बोझ काफी ज्यादा हो जाता है. जिस वजह से उनकी आर्थिक स्थिति काफी खराब हो जाती है. इस विषय पर केंद्र सरकार ने ध्यान देते हुए और किसानों की इस समस्या का समाधान निकालते हुए प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना की शुरुआत की है.

क्या है फसल बीमा योजना ? (What is crop insurance scheme?)

इस योजना के अंतर्गत किसान अपनी फसलों का बीमा करा सकते हैं. जी हाँ जिस प्रकार हम अपनी गाड़ी का बीमा (Insurance) करवाते हैं अब उसी प्रकार किसान भाई अपने फसलों का भी बीमा करवा सकते हैं. जिसके तहत उनकी फसल अगर आंधी, तूफान, बारिश या किसी आपदा में खराब हो जाती है, तो उसके बदले उन्हें सरकार से मुआवजा मिलेगा. इस स्कीम के तहत किसान अपनी फसल का बीमा (Crop Insurance) कराकर चिंता मुक्त हो सकते हैं.

कितना देना होगा प्रीमियम (How Much Premium will have to be Paid)

इस योजना में फसल का बीमा कराते समय किसानों को खरीफ की फसलों के लिए 2 प्रतिशत और रबी की फसल के लिए 1.5 प्रतिशत का प्रीमियम देना है.

ये भी पढ़ें: सौर सुजाला योजना: मनपसंद सौर पंप पर मिलेगी 20,000 रुपए की सब्सिडी, ऐसे करें आवेदन

आवेदन करने की प्रक्रिया (Application Process)

  • किसान इस स्कीम में ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों तरीके से आवेदन कर सकते हैं.

  • अगर आप इस योजनामें ऑफलाइन आवेदन करना चाहते हैं, तो नजदीकी पोस्ट ऑफिस में विजिट करके इस स्कीम में आवेदन कर सकते हैं.

  • ऑनलाइन आवेदन करने के लिए आपको फसल बीमा योजना की आधिकारिक वेबसाइट pmfby.gov.in पर विजिट करके आवेदन करना होगा.
  • आवेदन करने की प्रक्रिया काफी आसान है. इसमें आपको किसी भी तरह की दिक्कतों का सामना नहीं करना पड़ेगा.

English Summary: PM Fasal Bima Yojana: Now this scheme will protect farmers from loss of loans and crop destruction Published on: 03 February 2022, 04:54 IST

Like this article?

Hey! I am प्राची वत्स. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News