1. सरकारी योजनाएं

द्वार प्रदाय योजना: आवेदन करने के कुछ घंटों बाद घर आएगा प्रमाण-पत्र, ऐसे करें आवेदन

कंचन मौर्य
कंचन मौर्य
dwar praday Yojna

अगर किसी भी राज्य के लोगों को कोई प्रमाण-पत्र बनवाना होता है, तो उसके लिए कई बार कार्यालयों के चक्कर काटने पड़ते हैं, लेकिन अब मध्यप्रदेश में ऐसा नहीं होगा, क्योंकि मध्यप्रदेश सरकार ने एक नई योजना की शुरुआत की है, जिसके द्वारा राज्य के लोगों को 5 तरह की सेवाएं महज 24 घंटों में घर बैठे उपलब्ध कराई जाएंगी. इस योजना का नाम 'द्वार प्रदाय योजना' है.

क्या है द्वार प्रदाय योजना?

मध्यप्रदेश देश का पहला ऐसा राज्य बना है, जहां इस तरह की सुविधा दी जा रही है. इस सेवा योजना के तहत राज्य के लोगों को आय प्रमाण-पत्र, मूल निवास प्रमाण-पत्र, जन्म प्रमाण-पत्र, मृत्यु प्रमाण-पत्र और खसरा-खातौनी की नकल घर बैठे मिलेगी, वो भी सिर्फ़ 24 घंटे के अंदर. इस सेवा योजना से राज्य के लोगों को बहुत फायदा मिलेगा. इस सेवा योजना का लाभ उठाने के लिए राज्य के लोगों को लोकसेवा केंद्र या उसके पोर्टल पर आवेदन करना पड़ेगा.

राज्य के लोगों में खुशी

राज्य के कई लोगों ने इस योजना का लाभ उठाना भी शुरू कर दिया है. राज्य के लोगों का मानना है कि सरकार की इस योजना से बहुत ही अच्छी सेवा मिली है. इससे ज़रूरतमंद लोगों को दस्तावेज़ और शासकीय सेवाएं बहुत आसानी से मिल पाएंगी. इस योजना से जनता को अधिक से अधिक लाभ मिलेगा.

अन्य जानकारी

इस सेवा योजना को लोकसेवा गारंटी एक्ट के तहत चलाया जा रहा है. इसके तहत सरकार 464 सेवाएं निरंतर 300 दिन आम जन को दे रही है, जिसके तहत तय समय सीमा में सेवाओं का लाभ मिलता रहता है. बता दें कि इसके लिए लोकसेवा केंद्रों की संख्या 326 से बढ़ाकर 426 की गई है. इन सेवा केंद्रों में रोजाना 25 से 30 हजार आवेदन आते हैं, जिन्हें तत्काल प्रभाव से संबंधित विभागों में भेजा जाता है, लेकिन अब इस योजना के तहत 5 सेवाओं को 24 घंटे के अंदर घर पहुंचाया जाएगा.

ये खबर भी पढ़ें : किसान उदय योजना: सरकार बांटेगी फ़्री सोलर पंप सेट, अब सिंचाई करना होगा आसान

English Summary: certificate will be available 24 hours after applying from the door supply scheme of madhya pradesh government

Like this article?

Hey! I am कंचन मौर्य. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News