1. खेती-बाड़ी

ये विधायक करने लगे सब्जियों और फूलों की खेती

श्याम दांगी
श्याम दांगी
vidhayak ji

यूपी की जफराबाद विधानसभा से विधायक हरेंद्र सिंह इन दिनों खेती करने की वजह से चर्चा में है. दरअसल, सिंह पेशे से डॉक्टर है और लेकिन खेती के प्रति उनका विशेष रुझान है. वे अक्सर खेतों में जाकर सब्जी समेत अन्य फसलों की देखभाल करते हुए नज़र आते हैं. उन्होंने पॉली हाउस में कई तरह की सब्जियां उगाई है. विधायक सिंह राजनीति से इतर यह एक अलग काम कर रहे हैं.

40-45 लाख रुपए खर्च किये

सिंह करीब एक एकड़ में खेती करते है. इसके लिए पॉली हाउस तैयार करवाया है. उन्होंने अपने खेत में बैंगन, टमाटर, चुकंदर, लहसुन, गोभी, मटर समेत कई अन्य सब्जियां लगा रखी है. सब्जियों की सही देखभाल हो इसलिए उन्होंने लगभग 40 से 45 लाख रूपए खर्च करके पॉलीहाउस बनवाया है. उनकी खेती की तारीफ सुनकर आसपास के किसान भी उनके खेत को देखने आ रहे हैं. इसके अलावा वे जरबेरा की खेती कर रहे हैं. जरबेरा की खेती के लिए भी उन्होंने 40 लाख रुपए खर्च करके पॉली हाउस लगवाया है. इससे वे 4 उत्पादन लेते हैं. गौरतलब है कि जरबेरा के फूलों की जबरदस्त मांग होती है. वहीं सरकार भी इस पर अनुदान दे रही है. विधायक जी का कहना है कि पॉलीहाउस में खेती करने से 80 प्रतिशत अधिक उत्पादन मिलता है.

flower

खेती में कैसी शर्म- विधायक

सिंह का कहना है कि खेती से ही हमारे देश की पहचान है फिर इसमें हाथ लगाने में कैसा संकोच. खेती किसानी से हमारा पेट पलता है ऐसे में इससे मुंह मोड़ने का सवाल ही नहीं. वहीं सरकार भी किसानों को आर्थिक रूप से मजबूत करने के लिए प्रयासरत है. इसके लिए कई तरह की योजनाएं चलाई जा रही है. ऐसे में आज हम जागरूक होकर सरकारी योजनाओं का लाभ लेना चाहिए और सरकार के प्रयास को मजबूती प्रदान करना चाहिए. वहीं अच्छी खेती के लिए हमें वैज्ञानिक तकनीक को भी अपनाना होगा.

क्या है पॉली हाउस तकनीक?

पॉली हाउस तकनीक का इस्तेमाल करके हम अच्छी उपज ले सकते हैं. कृषि अधिकारी हरिशंकर का कहना है यह वह तकनीक है जिसमें कम तापमान वाली फसलों के लिए किया जाता है. दरअसल, इस तकनीक में फसल और सब्जियों को जरूरत के हिसाब से तापमान उपलब्ध कराया जाता है. जिससे ज्यादा और गुणवत्तापूर्ण पैदावार होती है. पॉली हाउस में जरबेरा फूल के अलावा टमाटर, गोभी समेत अन्य सब्जियां भी आसानी से उगाई जा सकती है. इसमें तापमान को मैंटेन रखने के लिए अंदर पंखें लगे रहते हैं.

English Summary: when up vidhayak ji put knowledge in farming now became farmers of jafrabad mla in jaunpur

Like this article?

Hey! I am श्याम दांगी. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News