MFOI 2024 Road Show
  1. Home
  2. खेती-बाड़ी

मशरूम की इस किस्म से होती है मोटी कमाई, जानें इसकी पहचान और विशेषताएं

बोड़ा जिसे भारत के अलग-अलग हिस्सों में विभिन्न नामों से जाना जाता है. देश के कुछ क्षेत्रों में बोड़ा को मशरूम भी कहते हैं. इसमें मौजूद पोषक तत्वों के चलते इन दिनों बाजार में इसकी कीमत 400 रुपये प्रति किलो तक है. यह सब्जी मानसून के आगमन से सिर्फ दो महीने पहले तक ही पाई जाती है.

लोकेश निरवाल
India's most expensive vegetable
India's most expensive vegetable

छत्तीसगढ़ का लजीज बोड़ा बाजार में पहुंचकर अपनी पहचान बना रहा है. यह लोगों के बीच काफी पसंद किया जा रहा है. बता दें कि इसकी सब्जी बहुत ही ज्यादा स्वादिष्ट बनती है, जोकि बीन्स की तरह ही दिखाई देती है. इन दिनों बाजार में इसकी मांग अधिक होने के चलते बोड़ा के दाम भी अधिक है. खासतौर पर बस्तर के बाजार में इसकी मांग व कीमत दोनों ही बढ़ गई है. खबरों की मानें तो बोड़ा पिछले कुछ दिनों से करीब 400 रुपए प्रति किलो के भाव से बिक रहा है. बोड़ा का सबसे अधिक लाभ आदिवासियों को होता है. क्योंकि वह जंगलों में रहते हैं और बोड़ा भी जंगल में उगता है. इस तरह से वह बोड़ा को बाजार में बेचकर अपना जीवन-यापन करते हैं.

बोड़ा को अलग-अलग स्थानों पर विभिन्न नामों से जाना जाता है. बस्तर और मध्य छत्तीसगढ़ में इसे बोड़ा के नाम से जाना जाता है और वहीं उत्तरी छत्तीसगढ़ सरगुजा में पुटु, मध्य छत्तीसगढ़ के पूर्वी भाग में पटरस फुटू यानी की मशरूम कहते हैं. बोड़ा को भारत की सबसे महंगी सब्जी भी कहा जाता है.

कैसे विकसित होता है बोड़ा

मानसून के आगमन पर बोड़ा जंगलों में दो महीने तक ही पाया जाता है. जब यह शुरू में निकलता है, तो इसे गहरी रंगत का बोड़ा 'जात बोड़ा' कहा जाता है और फिर जब यह महीने भर का हो जाता है, तो इसकी ऊपरी परत नरम व सफेद हो जाती है. इस दौरान इसे 'लाखड़ी बोड़ा'  के नाम से जाना जाता है. वहीं बोड़ा का वैज्ञानिक नाम एसट्रीअस हाइग्रोमेट्रिकस (Astrius hygrometricus) है. यह एक प्रकार का माइक्रो लॉजिक फंगस होता है, जो साल की जड़ों से उत्सर्जित केमिकल से बनता है. यह साल की गिरी सूखी पत्तियों पर ही जीवित रहता है. लेकिन जैसे की मानसून का आगमन होता है, तो यह जमीन से बहार निकल आता है, जिस आदिवासी कुरेदकर निकाल लेते हैं और फिर इसकी अच्छे से सफाई करने के बाद बाजार में उच्च दाम पर बेच देते हैं.

बोड़ा के शुरुआती दाम 1000 रुपए प्रति किलो

बाजार में जैसे ही बोड़ा आता है, तो लोगों के द्वारा इसे बहुत ही अधिक खरीदा जाता है. बारिश का शुरुआती महीना में इसकी आवक सबसे अधिक होती है और इस दौरान बोड़ा की कीमत लगभग 1000 रुपये प्रति किलो तक होती है. इसके बाद धीरे-धीरे इसके दाम में गिरावट देखने को मिलती है. वर्तमान समय में बस्तर और मध्य छत्तीसगढ़ में बोड़ा की कीमत 400 रुपये प्रति किलो है.

ये भी पढ़ें: पंजाब, हरियाणा, यूपी और राजस्थान के लिए गेहूं की 10 नई उन्नत किस्में और प्रति हेक्टेयर उत्पादकता

बोड़ा में मौजूद हैं कई पोषक तत्व

बोड़ा के दाम अधिक होने के बाद भी लोगों के द्वारा इसे इसलिए खरीदा जाता है, क्योंकि यह खाने में बेहद स्वादिष्ट और साथ ही इसमें कई पोषक तत्व पाए जाते हैं. दरअसल, बोड़ा में प्रोटीन, वसा, कार्बोहाइड्रेट, फाइबर, जिंक और लौह तत्व की मात्रा पाई जाती है.

English Summary: mushroom price mushroom farming mushroom health benefits protein present in boda India's most expensive vegetable cost of boda Published on: 09 October 2023, 11:36 AM IST

Like this article?

Hey! I am लोकेश निरवाल . Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News