Farm Activities

सोलर पंप लगाकर खेती में कमा रहे हैं भारी मुनाफा

नई और आधुनिक खेती करने में मध्य प्रदेश किसी भी रूप में पीछे नहीं है। इसी बीच टीकमगढ़ के किसान खेती को आधुनिक बनाने में कोई कसर नहीं छोड़ रहे है। वह राज्य सरकार की योजनाओं का लाभ लेकर आधुनिक रूप से खेती करके लाखों रूपये कमा सकते हैं। इसी तरह से सोलर पंप योजना का लाभ लेकर खरगापुर की इंदिरा खरे ने अपनी आय को कई गुना तक बढ़ाने की कोशिश की है। इस योजना के तहत राज्य शासन ने खेत में 72 हजार 100 रूपए जमा करवाने के बाद सोलर पंप लगवाया है। इसको लगवाने पर इंदिरा खरे को छूट दी गई है। पंप की कुल लागत 4,60,000 रूपए में से केवल 72 हजार रूपये जमा करने पर ही उन्हें सोलर पंप मिल गया। राज्य शासन से अनुबंधित कंपनी के द्वारा उनके खेत पर कई तरह के पंप लगाए गए है. इन सोलर पंपों को लगाने से कृषि कार्य में काफी सुविधा हुई है।

पिछले तीन साल से कर रहें हैं खेती

मध्य प्रदेश के टीकमगढ़ में खरगापुर निवासी इंदिरा खरे और पति कलिका प्रसाद खरे पिछले तीन सालों से पॉली हाउस और नेट हाउस में उन्नत तकनीकों से खेती कर रहे है। सामान्य तौर पर रबी व खरीफ के मौसम के समय बिजली उपलब्ध हो जाती है और उन्हें खेती से पर्याप्त आय होती है, लेकिन गर्मी के मौसम में बिजली की कम उपलब्धता के कारण उनकी सब्जियों की फसल कई बार खराब हो गई जिससे उनको काफी ज्यादा नुकसान उठाना पड़ा है। उद्यानिकी विभाग के उप संचालक केके कुशवाहा ने बताया कि सोलर पंप योजना से जिले के कई किसानों ने उद्यानिकी के क्षेत्र में काफी प्रगति की है।

गर्मी में सूख जाती थी सब्जियां

सब्जी का जब भी उत्पादन किया जाता है तो यह सबसे ज्यादा जरूरी होता है कि फसल को सही समय पर भरपूर मात्रा में पानी मिले। इसके साथ ही बिजली उपलब्धता के कारण उत्पादन पर भी विपरीत प्रभाव पड़ता है। उन्होंने कहा कि दो-तीन महीने पूर्व गर्मियों में भी जब बाजार में सब्जियों का भाव अच्छा रहता था तब बाजार में सब्जियों का भाव काफी सही रहता था। जिस को सुधारने में 3 से 4 दिन का समय लग गया. जिससे पॉलीहाउस में लगी शिमला मिर्च की ज्यादातर फसल खराब हो गई। उन्होंने बताया कि इसके अलावा भी वार्षिक बिजली का स्थाई कनेक्शन लेना तथा खेत पर करीब आधा किलोमीटर बिजली की डोरी डालकर बिजली लेना काफी जटिल काम था। उन्होंने बताया कि वर्ष 2017 में मुख्यमंत्री सोलर पंप योजना आने के बाद सोलर पंप के लिए आवेदन किया और 5 हॉर्स पावर का डीसी सोलर पंप कुएं पर लगवाया। इस पंप के लगने के बाद मेरे खेत पर सब्जियों के उत्पादन में बहुत अच्छा सुधार हुआ।

मोबाईल से कर सकते हैं ऑपरेट

किसान इंदिरा खरे का कहना है कि इसके साथ ही कंपनी के द्वारा खेत पर लगाए गए इस सोलर पंप से कृषि कार्य करने में बहुत सुविधा हुई है। खरे ने बताया कि इस पंप को मोबाईल फोन से ही चालू और बंद किया जा सकता है जिससे काफी सुविधा भी हुई है। खेत के नेटहाउस और कुएं के बीच की दूरी काफी ज्यादा है तथा पंप को चालू और बंद करने में बार-बार कुएं तक आने-जाने में काफी दिक्कत होती थी, लेकिन इससे बार -बार कुएं तक जाने की आवश्यकता नहीं होती है।



Share your comments