Farm Activities

इस पेड़ को फसल के साथ लगाकर कमाएं करोड़ों, जानिए कैसे

वर्तमान समय में हर कोई पैसा कमाने के दो जरिए ढूंढ रहा है, चाहे वो आम आदमी हो या किसान. क्योंकि सिर्फ एक फसल की खेती करने से किसानों को भी फायदा नहीं हो रहा. ऐसे में ज्यादातर किसान फसल के साथ -साथ अपने खेतों में पेड़ लगाने की सोचते हैं पर मसला ये है कि उन्हें समझ नहीं आता है कि ऐसे कौन सा पेड़ लगाएं जिनसे वे अच्छा खासा मुनाफा कमा सकें.

वैसे तो ऐसे कई पेड़ है जिनसे अच्छा पैसा कमा सकते हैं जैसे कि सागवान का पेड़ और सफेदा आदि. इन दोनों पेड़ों की मांग बहुत है पर इनके फायदे हैं तो नुकसान भी हैं- सागवान तैयार होने में 25 साल का समय लेता है और सफेदा के पेड़ को पानी की बहुत आवश्यकता पड़ती है. जिस वजह से ये खेत की नमी को सोख लेता है जिससे फसल पर प्रभाव पड़ता है. तो ऐसे में आज हम आपको अपने इस लेख में एक ऐसे पेड़ के बारे में बताएंगे. जिससे आप अपनी फसल के साथ खेतों में लगाकर कम समय में ही करोड़ों की कमाई कर सकते हैं.

मालाबार नीम का पेड़

  • यह मालाबार नीम का पेड़ है जो साधारण नीम से थोड़ा अलग होता है. इसकी खेती सभी तरह की मिट्टी में आसानी से की जा सकती है.

  • इसके लिए ज्यादा पानी की भी आवश्यकता नहीं पड़ती ये कम पानी में ही अच्छे से ग्रो कर सकता है.

  • इसका बीज मार्च व अप्रैल माह के दौरान बोना सबसे अच्छा माना जाता है.

  • यह पेड़ बहुत तेजी से विकास करता है.

  • मालाबार नीम की लकड़ी की भारतीय बाजारों में बहुत मांग होती है.

  • इसकी लकड़ी प्लाईवुड उद्योग (Plywood Industry) के लिए सबसे पसंदीदा प्रजाति मानी जाती है.

ये खबर भी पढ़े: आधुनिक तरीके से करें देसी पालक की खेती, होगी बंपर कमाई !

कैसे लगाएं इसके पेड़

मालाबार नीम के 4 एकड़ में 5 हजार पेड़ लगा सकते है, जिसमें से 2 हजार पेड़ खेत के बाहर वाली मेड़ पर और 3 हजार पेड़ खेत के अंदर मेड़ पर लगा सकते हैं.

कितनी होगी कमाई

मालाबार नीम के पेड़ों की लकड़ी को 8 वर्ष के बाद बेच सकते हैं. आप इसकी खेती कर 4 एकड़ में करके आसानी से 50 लाख रुपए तक कमा सकते हैं.

ये खबर भी पढ़े: जानें! क्यों है आर्टिमिसिया की खेती किसानों के लिए वरदान, पढ़ें इस खेती की पूरी विधि



English Summary: Earn crores by planting Malabar Neem tree with crop

Share your comments


Subscribe to newsletter

Sign up with your email to get updates about the most important stories directly into your inbox

Just in