1. खेती-बाड़ी

इस पेड़ को फसल के साथ लगाकर कमाएं करोड़ों, जानिए कैसे

मनीशा शर्मा
मनीशा शर्मा

Malabar Neem tree

वर्तमान समय में हर कोई पैसा कमाने के दो जरिए ढूंढ रहा है, चाहे वो आम आदमी हो या किसान. क्योंकि सिर्फ एक फसल की खेती करने से किसानों को भी फायदा नहीं हो रहा. ऐसे में ज्यादातर किसान फसल के साथ -साथ अपने खेतों में पेड़ लगाने की सोचते हैं पर मसला ये है कि उन्हें समझ नहीं आता है कि ऐसे कौन सा पेड़ लगाएं जिनसे वे अच्छा खासा मुनाफा कमा सकें.

वैसे तो ऐसे कई पेड़ है जिनसे अच्छा पैसा कमा सकते हैं जैसे कि सागवान का पेड़ और सफेदा आदि. इन दोनों पेड़ों की मांग बहुत है पर इनके फायदे हैं तो नुकसान भी हैं- सागवान तैयार होने में 25 साल का समय लेता है और सफेदा के पेड़ को पानी की बहुत आवश्यकता पड़ती है. जिस वजह से ये खेत की नमी को सोख लेता है जिससे फसल पर प्रभाव पड़ता है. तो ऐसे में आज हम आपको अपने इस लेख में एक ऐसे पेड़ के बारे में बताएंगे. जिससे आप अपनी फसल के साथ खेतों में लगाकर कम समय में ही करोड़ों की कमाई कर सकते हैं.

मालाबार नीम का पेड़ (Malabar Neem tree)

  • यह मालाबार नीम का पेड़ है जो साधारण नीम से थोड़ा अलग होता है. इसकी खेती सभी तरह की मिट्टी में आसानी से की जा सकती है.

  • इसके लिए ज्यादा पानी की भी आवश्यकता नहीं पड़ती ये कम पानी में ही अच्छे से ग्रो कर सकता है.

  • इसका बीज मार्च व अप्रैल माह के दौरान बोना सबसे अच्छा माना जाता है.

  • यह पेड़ बहुत तेजी से विकास करता है.

  • मालाबार नीम की लकड़ी की भारतीय बाजारों में बहुत मांग होती है.

  • इसकी लकड़ी प्लाईवुड उद्योग (Plywood Industry) के लिए सबसे पसंदीदा प्रजाति मानी जाती है.

 

कैसे लगाएं मालाबार नीम का  पेड़ (How to plant a tree)

मालाबार नीम के 4 एकड़ में 5 हजार पेड़ लगा सकते है, जिसमें से 2 हजार पेड़ खेत के बाहर वाली मेड़ पर और 3 हजार पेड़ खेत के अंदर मेड़ पर लगा सकते हैं.

कितनी होगी कमाई (How much will you earn)

मालाबार नीम के पेड़ों की लकड़ी को 8 वर्ष के बाद बेच सकते हैं. आप इसकी खेती कर 4 एकड़ में करके आसानी से 50 लाख रुपए तक कमा सकते हैं.
English Summary: Earn crores by planting Malabar Neem tree with crop

Like this article?

Hey! I am मनीशा शर्मा. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters