1. बाजार

इतने रुपये सस्ता खरीद सकेंगे खाने का तेल, जानिए क्यों?

कंचन मौर्य
कंचन मौर्य

कोरोना वायरस ने दुनियाभर को अपनी चपेट में जकड़ रखा है. यह जितना प्रभाव लोगों की सेहत पर डाल रहा है, उतना ही बुरा प्रभाव देशों के बाजारों पर डाल रहा है. इसकी वजह से दुनियाभर के बाजारों में गिरावट देखने को मिल रही है. कहा जा रहा है कि अगले हफ्ते से खाद्य तेल के दामों में लगभग 10 प्रतिशत की गिरावट आएगी. इंडस्ट्री के एक्सपर्ट्स का मानना है कि वैश्विक दामों का भारतीय बाजार पर बड़ा असर पड़ता है, क्योंकि देश में सालाना खाद्य तेल का इस्तेमाल लगभग 235 लाख टन किया जाता है. इसका लगभग 70 प्रतिशत हिस्सा आयात होता है.

मीडिया रिपोर्ट्स की मानें, तो चीन को खाद्य तेल के बड़े कन्ज्यूमर्स में से एक माना जाता है. वहां बाजारों में इसकी मांग घट रही है. इसके कारण वैश्विक बाजारों के साथ ही घरेलू बाजार में भी इसके दामों में कमी आ रही है. इस गिरावट का फायदा कंपनी कन्ज्यूमर्स को देना चाहती है, इसलिए आने वाले हफ्ते में खाद्य तेल के दाम घट जाएंगे.

सोयाबीन तेल की कीमत में आएगी कमी

एक्सपर्ट्स का मानना है कि अगले हफ्ते से कन्ज्यूमर को पाम ऑइल और सोयाबीन तेल पर लगभग 10 प्रतिशत की छूट मिलेगी. मतलब इसकी कीमत 8 रुपये प्रति लीटर कम देनी होगी. इसके अलावा सूरजमुखी का दाम 5 रुपये प्रति लीटर कम हो जाएगा. आपको बता दें कि इस वक्त ब्रांडेड सोयाबीन और पाम ऑइल के दाम 78 रुपये प्रति लीटर है. इसके साथ ही सूरजमुखी के तेल का दाम 82 रुपये प्रति लीटर है. बता दें कि दुनिया के अन्य देशों में भी कोरोना वायरस फैल रहा है, इसी वजह से तेलों में गिरावट होने की उम्मीद जताई जा रही है.

इतना सस्ता होगा सरसों और राइस ब्रान तेल

अगर पिछले दो महीनों की बात करें, तो सरसों तेल के दाम 13 प्रतिशत और राइस ब्रान के दाम 20 प्रतिशत तक नीचे आए हैं. इस स्तर पर प्राइस आने से मांग बढ़नी चाहिए, तो वहीं कंपनियों को भी ब्रांडेड तेल की खपत में इजाफ़ा होना चाहिए. मगर एक्सपर्ट्स का कहना है कि कोरोना वायरस की वजह से शेयर बाजार से कमजोर संकेत मिल रहे हैं. इस वजह से सोयाबीन तेल और पाम ऑयल के दाम घट सकते हैं.

ये खबर भी पढ़ें: पशुपालन विभाग में कई पदों पर निकली बंपर भर्तियां, जल्द करें ऑफलाइन आवेदन

English Summary: Oil will be cheaper in a few days

Like this article?

Hey! I am कंचन मौर्य. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News