1. मौसम

Cyclone Alert ! देश में मंडरा रहा है नए चक्रवात तूफ़ान का खतरा, इन राज्यों में होगी भारी बारिश

मनीशा शर्मा
मनीशा शर्मा
cyclone

Cyclone Alert

मौसम ने फिर करवट लेना शुरू कर दिया है, क्योंकि देश के कई राज्यों में बारिश की बूंदों से वातावरण में ठंडक पैदा हो गयी है. इसके अलावा मौसम विभाग ने देश में फिर एक नए चक्रवात का खतरा मंडराने की जानकारी दी है. मौसम विभाग ने कल यानि 4 दिसंबर को चक्रवात तूफान 'जवाद' के आने की चेतावनी दी है. जिसके चलते भारतीय रेलवे ने यात्रियों की सुरक्षा के चलते 3 और 4 दिसंबर के लिए अपनी कई स्पेशल ट्रेनों को रद्द करने का फैसला किया है .

अरब सागर में बने कम दबाव की वजह से मायानगरी मुंबई में बारिश हो रही है. इसके अलावा पश्चिमी विक्षोभ (Western Disturbance) और पहाड़ों पर बर्फबारी (Snowfall) की वजह से उत्तर-मध्य समेत कई राज्यों में लगातार तापमान में गिरावट दर्ज की गई है. मौसम विभाग के अनुसार, इस चक्रवात का सीधा असर बिहार राज्य में नहीं पड़ेगा, लेकिन इसकी वजह से अगले कुछ दिनों में राज्य के कुछ हिस्सों में हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है. इसके अलावा ओड़िशा के 4-5 जिलों में रेड अलर्ट (Red Alert) जारी किया है, जबकि कुछ जिलों में ऑरेंज अलर्ट (Orange Alert)  जारी किया गया है. जिसके चलते 3 से 5 दिसंबर के बीच भारी से अति भारी बारिश आ सकती है. जिस वजह से मछुआरों को भी अगले 3 दिनों तक समुद्र से दूर रहने को कहा है.

गुजरात राज्य की बात करें, तो गिर सोमनाथ में पिछले कुछ घंटों से लगातार बारिश हो रही है. तेज गति में चल रही हवाओं की वजह से 14 -15 नावों के समुद्र में डूबने की जानकारी मिली है. इसके अलावा, 9-10 मछुवारों के लापता होने की भी आशंका है. मौसम विभाग ने अगले 48 घंटे के लिए भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है. तो आइए निजी मौसम एजेंसी स्काइमेट वेदर के मुताबिक, आगामी 24 घंटों के मौसम का पूर्वानुमान- बताते हैं.

देशभर में बने मौसमी सिस्टम

दक्षिण-पूर्वी बंगाल की खाड़ी और उससे सटे अंडमान सागर पर बना निम्न दबाव का क्षेत्र तेज होकर उसी क्षेत्र के ऊपर एक कम दबाव का क्षेत्र बन गया है. संबद्ध चक्रवाती परिसंचरण मध्य क्षोभमंडल स्तर तक फैल रहा है. इसके पश्चिम उत्तर-पश्चिम दिशा में आगे बढ़ने और आज दोपहर या शाम तक एक अवसाद में केंद्रित होने और 3 दिसंबर तक चक्रवात में और तेज होने की उम्मीद है. वहीं, 4 दिसंबर की सुबह तक उत्तरी आंध्र प्रदेश और दक्षिण ओडिशा तट पर पहुंचने की उम्मीद है.

पूर्वी मध्य अरब सागर पर चक्रवाती परिसंचरण औसत समुद्र तल से 5.8 किमी ऊपर तक फैला हुआ है.दक्षिण पूर्व अरब सागर से समुद्र तल पर एक ट्रफ रेखा उत्तरपूर्वी अरब सागर में कच्छ तक फैली हुई है.

अगले 24 घंटों के दौरान मौसम की संभावित गतिविधि

अगले 24 घंटों के दौरान, 4 दिसंबर को मध्य महाराष्ट्र और दक्षिण-पश्चिम मध्य प्रदेश के कुछ हिस्सों में हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है. कोंकण और गोवा, तटीय कर्नाटक के कुछ हिस्सों और दक्षिण गुजरात में हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है.

हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड के कुछ हिस्सों में हल्की से मध्यम बारिश हुई और इन राज्यों के ऊपरी इलाकों में हल्की बर्फबारी हुई. 3 दिसंबर को आंध्र प्रदेश और ओडिशा तट के कुछ हिस्सों में मध्यम से भारी बारिश हो सकती है. वहीं, 3 दिसंबर से 5 दिसंबर की शाम तक आंध्र प्रदेश और ओडिशा तट पर समुद्र की स्थिति खराब से बहुत खराब रहेगी.

English Summary: The threat of a new cyclone storm is looming in the country, there will be heavy rain in these states

Like this article?

Hey! I am मनीशा शर्मा. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters