1. सफल किसान

Fish Farming: नौकरी जाने के बाद मछली पालन के व्यवसाय से कमा रहे लाखों रुपए, जानिए कैसे?

कंचन मौर्य
कंचन मौर्य
Fish Farming

Fish Farming

मछली पालन आर्थिक लाभ का बढ़िया जरिया साबित हो रहा है. परिणाम यह है कि मौजूदा समय में मछली पालन के प्रति किसानों का मोह काफी तेजी से बढ़ रहा है. इसकी एक मिसाल उत्तराखंड के उधम सिंह नगर में रहने वाले कपिल तलवार ने साबित की है.

जब कोरोना काल के दौरान खई लोग बेरोजगार हो गए थे, तब उन्होंने परिस्थितियों के सामना हार नहीं मानी और मछली पालन के व्यवसाय (Fish Farming) का हाथ थाम लिया. आज कपिल तलवार लोगों के लिए एक मिसाल बन गए हैं.

बॉयोफ्लॉक तकनीक से मछली पालन (Fish farming with biofloc technology)

कोरोना काल की वजह से कई लोगों का रोजगार छिन गया है, जिसमें कपिल तलवार भी शामिल हैं. उनके पास भी आय का कोई साधन नहीं रहा था, फिर इस दौरान उन्होंने जिले के मत्स्य पालन विभाग से संपर्क किया.

इसके बाद विभाग ने मछली पालन के व्यवसाय (Fish Farming) का सुझाव दिया गया. इसके लिए उन्हें लगभग 50 टैंकों की स्थापना का सुझाव दिया, साथ ही मछली पालन करने के लिए बायोफ्लॉक तकनीक (Biofloc Technology) अपनाने के लिए कहा गया.

क्या है बॉयोफ्लॉक तकनीक? (What is Biofloc technology?)

बायोफ्लॉक तकनीक (Biofloc technology) एक आधुनिक व वैज्ञानिक तरीका है.  इसकी मदद से बिना तालाब की खुदाई किए एक टैंक में मछली पालन किया जा सकता है. 

बायोफ्लॉक तकनीक को अपनाने से कम पानी और कम खर्च में मछली पालन (Fish Farming) कर मुनाफा कमा सकते हैं. खास बात यह है कि इस तकनीक में कई प्रजातियों की मछलियां पाली जा सकती हैं, जिनकी बाजार में अच्छी मांग होती है.

मछली पालन के लिए 20 लाख की सब्सि़डी (20 lakh subsidy for fish farming)

कपिल तलवार की मानें, तो इस मछली पालन के व्यवसाय (Fish Farming) को शुरू करने के लिए सरकार द्वारा 20 लाख रुपए की सब्सिडी प्रदान की गई. बता दें कि कपिल तलवार इस यूनिट के स्थापना के बाद वे पिछले 4 महीने के अंदर प्रति टैंक से 2 कुंतल मछली निकाल चुके हैं. इतना ही नहीं, विभाग द्वारा समय-समय पर मछली पालन (Fish Farming) को लेकर नई तकनीक की जानकारी भी दी जाती है.

लाखों रुपए का हो चुका है मुनाफा (There has been profit of lakhs of rupees)

मीडिया रिपोर्ट्स की मानें, तो कपिल तलवार को मछली पालन का व्यवसाय (Fish Farming) काफी फायदेमंद साबित हो रहा है. अब तक वे इस व्यवसाय से लगभग 5 से 6 लाख रुपए तक का मुनाफा कमा चुके हैं.  

क्यों है बॉयोफ्लॉक विधि फायदेमंद? (Why is the Biofloc Method Beneficial?)

हमेशा मत्स्य विभाग द्वारा किसानों को बायोफ्लॉक तकनीक से मछली पालन (Fish Farming) करने के लिए प्रोत्साहित किया जाता है. विशेषज्ञों की मानें, तो इस तकनीक की खास बात यह है कि इसके जरिए कृषि कार्यों के साथ-साथ कम पानी, जगह, लागत, समय में अधिक मुनाफा कमा सकते हैं.

किसानों की आय बढ़ाने का लक्ष्य (To increase the income of farmers)

भारत सरकार द्वारा ग्रामीण क्षेत्र में रहने वाले लोगों, बेरोजगारों और किसानों की आय को बढ़ाने के लिए लगातार काम किया जा रहा है. इस क्षेत्र के विकास के लिए कई उपयोगी योजनाएं चलाई जा रही हैं.

इसके अलावा जागरूकता अभियान भी चलाए जाते हैं. इनके जरिए किसानों को मछली पालन की नई तकनीक की जानकारी मिलती है, साथ ही अधिक मुनाफा कमाने का बेहतर मौका भी मिलता है.

इन बातों का रखें ध्यान (Keep these things in mind)

  • टैंक में तय तापमान बनाए रखें.

  • 24 घंटे बिजली की व्यवस्था जरूर होनी चाहिए.

  • टैंक में मौजूद ऐरोबिक बैक्टीरिया को जिंदा रखना जरूरी है.

English Summary: fish farming with biofloc technology

Like this article?

Hey! I am कंचन मौर्य. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News