1. ग्रामीण उद्योग

Swadeshi Business Idea: खाली जगह में शुरू करें ये कमाल का स्वदेशी बिजनेस, हर महीने जमकर होगी कमाई!

कंचन मौर्य
कंचन मौर्य
Business Idea

Business Idea

आजकल हर जगह किसी न किसी घर या बिल्डिंग के निर्माण का कार्य चलता रहता है. इसके लिए ज्यादातर लाल ईंट की जगह थर्मल पावर प्लांट की कोयले की राख (Fly Ash) से बनी ईंटों इस्तेमाल हो रहा है. 

बता दें कि छोटे कस्बों और गांव से इन ईंटों का चलन शुरू हुआ, जिसकी मांग अब देशभर में होती है. अगर आपके इस समय किसी स्वदेशी बिजनेस (Swadeshi Business Idea) की तलाश कर रहे हैं, तो इस समय राख से बनी ईंट (Fly Ash Bricks) का बिजनेस करने से अच्छा आइडिया नहीं होगा.

इस बिजनेस से आप हर महीने लाखों रुपए की कमाई कर सकते हैं. आइए आपको राख से बनी ईंट के बिजनेस में क्या-क्या करना है. उससे पहले बता दें कि अगर आपके पास खाली जगह या प्लॉट है, तो आप राख से ईंट बनाने का बिजनेस बहुत आसानी से शुरू कर सकते हैं.

अच्छी बात यह है कि इस स्वदेशी बिजनेस (Swadeshi Business Idea) को शुरू करने के लिए सरकार भी मुद्रा योजना (Mudra Scheme) के तहत मदद करती है.

राख से बनी ईंट बनाने के बिजनेस में लागत (Cost of ash brick making business)

खादी और ग्रामोद्योग आयोग (Khadi and Village Industries Commission/KVIC) की एक रिपोर्ट में खाका तैयार किया गया है कि राख से ईंट बनाने के बिजनेस को शुरू करने में लगभग 20 लाख रुपए तक की लागत आएगी. 

इस बिजनेस को शुरू करने के लिए बैंक से लोन भी ले सकते हैं. बता दें कि आपको प्रधानमंत्री रोजगार योजना के तहत आसानी से लोन मिल जाएगा. इसके अलावा मुद्रा लोन स्कीम (Mudra Loan Scheme) भी मदद करेगी.

राख से बनी ईंट बनाने के लिए कच्चा माल (Raw material for making ash bricks)

इस बिजनेस में कच्चे माल के रूप में पावर प्लांट से निकली राख की जरूरत होती है. इसके लिए ऊर्जा मंत्रालय ने नीलामी प्रक्रिया शुरू कर रखी है. ऊर्जा मंत्रालय (Power Ministry)  ने निर्देश दिया है कि हमेशा बिजली संयंत्र (Power Plants) पारदर्शी बोली प्रक्रिया के जरिए फ्लाई ऐश की नीलामी करेंगे.

बता दें कि इस उद्देश्य के लिए मंत्रालय ने 22 सितंबर 2021 को एक परामर्श जारी किया है. अगर बोली के बाद भी राख पावर प्लांट में बच जाती है, तो आप उसे फ्री में ले सकते हैं. मगर याद रहे कि लेकिन ये 'पहले आओ पहले पाओ' के आधार पर दी जाएगी.

इतनी लगेगी लागत (Will cost so much)

खादी और ग्रामोद्योग आयोग (Khadi and Village Industries Commission/KVIC) की रिपोर्ट में एक प्रोजेक्ट के बारे में बताया गया है. अगर इस रिपोर्ट को देखा जाए, तो इस बिजनेस की कुल प्रोजेक्ट कॉस्ट 20.30 लाख रुपए है.

इसमें इक्विपमेंट पर 8.55 लाख रुपए खर्च होंगे, तो वहीं वर्कशेड बनाने के लिए 6 लाख रुपए की लागत लगेगी. इसके अलावा वर्किंग कैपिटल के रूप में 5.75 लाख रुपए की आवश्यकता होगी. इस प्लांट से हर साल 5 लाख ईंटें बनाई जा सकती हैं, जिसमें 34.75 लाख रुपए की लागत आती है.

इतना होगा मुनाफा (So much profit)

इस प्रोजेक्ट में बताया गया है कि आप लगभग 5 लाख ईंटें 40 लाख रुपए में बेच सकते हैं. इस तरह सभी खर्च घटाने के बाद लगभग 4.90 लाख रुपए का मुनाफा कमाया जा सकता है. 

यानि इस तरह आप हर महीने में 34 हजार रुपए से ज्यादा की कमाई कर सकते हैं. इसमें सरकार भी आपकी मदद करेगी. तो अगर आप बिजनेस की शुरुआत करना चाहते हैं, तो इस बिजनेस आइडिया को अपना सकते हैं. इससे आपको अच्छा मुनाफा होगा.  

English Summary: swadeshi business idea for making bricks made of ash

Like this article?

Hey! I am कंचन मौर्य. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News