1. ग्रामीण उद्योग

मात्र 50 हजार रुपए के निवेश में शुरू करें ये बिजनेस, होगी हर महीने लाखों की कमाई

स्वाति राव
स्वाति राव

Mushroom Business

यदि आप कम निवेश में अच्छा व्यापार शुरू करना चाहते हैं, तो आज हम आपको एक ऐसे व्यापार के बारे में बताने जा रहे हैं, जिसे घर बैठे आसानी से शुरू किया जा सकता हैं. इससे अच्छा मुनाफा भी कमाया जा सकता है

दरअसल, हम मशरूम की खेती (Mushroom Farming) की बात कर रहे हैं. इसकी खेती सबसे अधिक लाभदायक कृषि-व्यवसायों में से एक है, जिसे आप कम निवेश और कम जगह के साथ शुरू कर सकते हैं. भारत में मशरूम की खेती कई लोगों की आय के वैकल्पिक स्रोत के रूप में धीरे-धीरे बढ़ रही है.

बता दें मशरूम की खेती का व्यवसाय (Mushroom Farming Business) शुरू करने के लिए आपको मात्र 50, 000 रूपए खर्च करने की जरुरत होगी. इसके साथ ही खेती को बढ़ावा देने के लिए सरकार भी सहायता राशि प्रदान कर रही है. इस व्यवसाय की सबसे अच्छी खासियत यह है कि इस व्यापार को ज्यादा जगह की आवश्यकता नहीं होती है. यानि आप अपने घर के छोटे से कमरे में भी शुरू कर सकते हैं.

मशरूम की खेती करने का तरीका (Mushroom Cultivation Method)

अगर आप मशरूम की खेती करना चाहते हैं, तो सबसे पहले 10 किलो भूसे को 100 लीटर पानी में भिगोकर रख दें. ध्यान रहे कि पहले 10 किलो भूसे में शोधन की प्रक्रिया की जाती है. इसके लिए आप फार्मलिन व कॉर्बेंडाजिन को पानी में घोलें, फिर इसमें भूसा भिगोकर रख दें. इसके करीब 12 घंटे बाद निकाल लें. अब भूसे को किसी जालीदार बैग में भरकर या फिर चारपाई पर फैला दें. इसके साथ ही अतिरिक्त पानी को निकल दें. इसके बाद एक किलो सूखे भूसे को एक बैग में भर दें. इसके साथ ही एक बैग में तीन लेयर लगानी होती है. बता दें कि एक लेयर लगाने के बाद स्पॉन की किनारे-किनारे रखकर भूसा रखा जाता है. इस प्रक्रिया से एक बैग में तीन लेयर लगानी हैं

मशरूम की खेती के खाद (Mushroom Farming Fertilizers)

मशरूम की खेती करने के लिए सबसे पहला काम खाद बनाने का होता है. आप इसकी खेती के लिए दो तरह की खाद बना सकते हैं एक जैविक खाद और दूसरी सिंथेटिक खाद. तो चलिए इन खाद के बारे में आपको बताते हैं.

जैविक खाद (Organic manure)

मशरूम की खेती में जैविक खाद बनाने के लिए गेहूं का भूसा, घोड़े का डंक,  गोबर की खाद, जिप्सम और कुक्कुट, मिटटी आदि सभी तत्वों को अच्छी तरह मिला लें. इसके बाद कम्पोस्ट यार्ड में अच्छी तरह फैला दें. कुछ दिनों तक ऐसे ही छोड़ दें. इस तरह से कम्पोस्ट खाद बन जाएगी. इस कम्पोस्ट को गीला करने के लिए उस पर पानी का छिड़काव करें.

सिंथेटिक कम्पोस्ट (Synthetic Compost)

सिंथेटिक खाद के लिए यूरिया, जिप्सम, चोकर, गेहूं के भूसे और अमोनियम नाइट्रेट/अमोनियम सल्फेट की आवश्यकता होती है. इस प्रक्रिया में सबसे पहले मशरूम के डंठल को लगभग 8-20 सेंटीमीटर लंबाई में काट लें. अब कम्पोस्ट पर कटे हुए भूसे की समान महीन परत फैलाएं और उस पर पानी का छिड़काव करें. अब आपको कैल्शियम नाइट्रेट, यूरिया, जिप्सम और चोकर जैसी सभी चीजों को अच्छी तरह मिलाना है. इस तरह सिंथेटिक कंपोस्ट बना सकते हैं

सरकार दे रही है 40% अनुदान (Government Is Giving 40% Grant)

आपको बता दें मशरूम के व्यवसाय को शुरू करने के लिए सरकार भी 50 प्रतिशत का अनुदान देती है.

उपयुक्त विधि से आप मशरूम की खेती कर अच्छा मुनाफा कमा सकते हैं. बस आपको उपर दी गई जानकारी को ध्यान में रखकर खेती की तरफ रूख करना है.

English Summary: start this business by investing only 50 thousand rupees, you will earn lakhs every month

Like this article?

Hey! I am स्वाति राव. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters