1. ग्रामीण उद्योग

Business Idea: महज़ 5 हजार की लागत से शुरू करें कुल्हड़ बनाने का बिजनेस, होगी 50 हजार रुपए की कमाई

कंचन मौर्य
कंचन मौर्य
Kulhar Business Idea

Kulhar Business Idea

हमारे देश की जनसंख्या के मुकाबले में नौकरियां बहुत कम हैं, तो वहीं कोरोना (Corona) और लॉकडाउन (Lockdown) ने स्थिति को और भी बिगाड़ कर रख दिया है. आज कई लोगों की नौकरी छिन गई है.

तो कई लोगों की नौकरी पर खतरा मंडरा रहा है. ऐसे में सभी लोगों को एक बड़ी चिंता सता रही है कि लॉकडाउन के बाद उनकी जीविका कैसे चल पाएगी? वह कैसे अच्छा मुनाफ़ा कमा पाएंगे? अगर आपके मन में भी ऐसा कोई सवाल है तो हम आपको एक बेहद शानदार बिजनेस का विकल्प बताने जा रहे हैं. इस बिजनेस को शुरू कर आप हर महीने कम से कम 50 हजार रुपए का मुनाफ़ा कमा सकते हैं. खास बात है कि इस बिजनेस को शुरू करने में लागत न के बराबर लगती है.

कुल्हड़ बनाने का बिजनेस (Kulhad making business)

आपको बता दें कि मौजूदा समय की स्थिति को देखकर पब्लिक ट्रांसपोर्ट जैसे रेलवे स्टेशनों (Railway Station), बस डिपो (Bus Depot), हवाईअड्डों (Airport) और मॉल (Mall) में जल्द ही प्लास्टि और कागज से बने कप में चाय बेचने पर पाबंदी लगने वाली है. अगर आप अपना बिजनेस शुरू करना चाहते हैं, तो जल्द ही इस मौके का फायदा उठाते हुए कुल्हड़ बनाने का बिजनेस शुरू कर सकते हैं. आने वाले में यह बिजनेस आपको शानदार कमाई देगा.  

कुल्हड़ बनाने के बिजनेस में सरकार से मिलेगी मदद (Government will get help in the business of making Kulhad)

कुल्हड़ बनाने का बिजनेस सोचने और दिखने में ज़रूर छोटा लगता है, लेकिन आप इस बिजनेस से महीने में बहुत अच्छी कमाई कर सकते हैं. बता दें कि मोदी सरकार लगातार  कुल्हड़ बनाने के बिजनेस को बढ़ावा दे रहे हैं. इसके के लिए कुम्हार सशक्तीकरण योजना भी चलाई गई है. इस योजना के तहत सरकार कुम्हारों को बिजली से चलने वाली चाक देती है, जिसकी मदद से कुम्हार आसानी से कुल्हाड़ बना सकते हैं. इतना ही नहीं, सरकार इन कुल्ह़ड़ों को अच्छी‍ कीमत पर खरीदती भी है. इस योजना की मदद से कुम्हार अपनी जीविका को बेहतर बना सकते हैं.

कुल्हड़ बनाने के बिजनेस में कम लागत अधिक मुनाफा (In the business of making Kulhad, low cost, more profit)

अगर आप कुल्हड़ बनाने का बिजनेस शुरू करना चाहते हैं, तो इसमें आपको केवल 5 हजार रुपए की लागत लगानी पड़ेगी. इसके साथ ही थोड़ी खुली जगह की ज़रूरत भी पड़ेगी. यहां आप कुल्हड़ बानने वाली चाक लगा सकते हैं, साथ ही उन्हें अच्छी तरह धूप में सूखा सकते हैं. बता दें कि सरकार ने इस साल 25 हजार इलेक्ट्रिक चाक बांटने का लक्ष्य तय किया है. मगर यह लक्ष्य कोरोना और लॉकडाउन की वजह से  पूरा नही हो पा रहा है. जैसे ही देश की स्थिति में सुधार होगा, वैसे ही आप सरकार की इस योजना का लाभ ज़रूर उठाएं. इस बिजनेस से आप अपनी जीविका को बेहतर बना सकते हैं.

English Summary: Kulhar business will give good profits

Like this article?

Hey! I am कंचन मौर्य. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News