1. विविध

ये पांच पौधे करते हैं जानलेवा मच्छरों से बचाव

स्वाति राव
स्वाति राव
Tulsi Plant

Tulsi Plant

बारिश का मौसम जितना हरा-भरा होता है. उतना ही हमारी सेहत के लिए नुकसानदायक भी हो सकता है. बारिश के पानी में डेंगू, मलेरिया के मच्छर पैदा होने का खतरा रहता है. जो कई जानलेवा बीमारियों का कारण बनते है. ऐसे में जरूरत है,

इनसे बचाव की. इस लेख में 5 ऐसे पौधों के बारे में बताने जानिए जो  आपकी बालकनी की खूबसूरती बनाए रखने के साथ-साथ मच्छरों को भी घर से दूर करने में मदद करेंगे.

सिट्रोनेला ग्रास(Citronella Grass)

सिट्रोनेला ग्रास मच्छरों को दूर रखने  में काफी मदद करती है. अपको इसके तेल से बनी मच्छर अगरबत्ती बाजार में मिल जायेगी. इसमें ऐसी गंध होती है कि मच्छर घर से भाग जाते है. अगर इसके पौधे को आप अपने घर के बगीचे में लगाते हैं तो आपके घर के आसपास मच्छर का प्रकोप कम हो जाएगा .

लेमनग्रास(Lemongrass)

लेमनग्रास एक तरह से सिट्रोनेला की प्रजाति की ही घास है. लेमनग्रास जहां पर लगाई जाती है वहां मच्छर नहीं टिक पाते हैं. इसका उपयोग खाद्य सामग्री के रूप में भी होता है. इसकी घास थोड़ी लम्बी होती है इसलिए इसे बड़े कंटेनर वाले गमले में लगाना चाहिए.

तुलसी(Basil)

तुलसी का पौधा घर में लगाने से मच्छर दूर रहते हैं और इस पौधे को केवल खिड़की पर रखने से मच्छर घर में प्रवेश नहीं करते हैं. तुलसी के अलावा लहसुन की तीखी गंध भी मच्छर को भगाने के काम आती है. इसके लिए बस आपको लहसुन की कुछ कलियों को पीसकर पानी में उबालना होगा और अपने घर में स्प्रे करना होगा.

लैवेंडर(Lavender)

लैवेंडर की गंध मच्छरों को रोकने में मददगार होती है. बैंगनी रंग के फूलों वाला यह पौधा गर्म मौसम में ज्यादा अच्छी तरीके से खिलता है. इसे आप अपने बगीचें या गमलों में लगाकर दरवाजों के आसपास या बालकनी में रख सकते है.

रोजमेरी(Rosemary)

नेचुरल मॉस्किटो रिपेलेंट प्लांट है रोजमेरी. जिसे गुलमेंहदी के नाम से भी जाना जाता है. इस पौधे में से एक खास तरह की लकड़ी जैसी गंध आती है जो मच्छरों के साथ ही मक्खी और कई अन्य कीड़ों को भी दूर रखने में मदद करती है. डेकोरेशन के लिहाज से भी रोजमेरी के पौधे को बेहतरीन माना जाता है. ऐसी ही बागवानी से जुड़ी सभी जानकारियां प्राप्त करने के लिए जुड़े रहिये कृषि जागरण हिंदी पोर्टल से.

English Summary: these five plants protect against deadly mosquitoes

Like this article?

Hey! I am स्वाति राव. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News