Others

प्रदुषण मुक्त जीवन साथ ही ईंधन से फायदा

जी हाँ विश्व के कई देशों में कचरे से ईंधन बनाने की खबर तो आप सभी सुनते होंगे पर अब हम आपको एक ऐसी खबर के बारे में बताने जा रहे हैं जिसमें पश्चिमी अफ्रीका के बेनिन के एक गाँव जहां अनन्नास की खेती बहुतायत मात्रा में होती है ऐसे में वहां पर इसके कचरे  के रूप में छिलके को वहां के गाँव वाले ढो कर ले जाते थे और फेंक देते थे पर ऐसे में एक गैर सरकारी संस्था के प्रमुख फ्लोरेंट ने रि- बिन के मालिक मार्क जियानैली  के सहयोग से कचरे को एकत्र कर ट्रीटमेंट संयंत्र प्लांट लगाया जिससे सभी जैविक कचरे के माध्यम से बायोगैस बनाने का सिलसिला शुरू हो गया और ये बहुत सराहनीय प्रयास रहा कियुँकि पहले वहां के लोग उस कचरे को जला देते थे और खाना बनाने के लिए कोयले का प्रयोग करते थे जिससे उनके बर्तन के साथ साथ हाथ भी काले हो जाया करते थे और धुंए से पर्यावरण को भी नुक्सान होता था पर संयंत्र लगने से जो भी कचरा ले कर वहां जमा करते हैं उन लोगों को  रि- बिन  में कचरे से बनी बायोगैस दी जाती है ऐसे में जहाँ संयंत्र को मुनाफा हो रहा है वहां लोगों को भी कम समय में खाना बन जाता है और प्रदुषण से भी मुक्ति मिल गयी है इस सयंत्र में दस किलो कचरे के बदले तीस रूपये का बायोगैस दिया जाता है 



Share your comments