1. विविध

किचन गार्डन में लगाएं ये 6 पौधे, घर में फैलेगी सौंधी महक

कंचन मौर्य
कंचन मौर्य
kitchen

कई लोगों को घर में बगीचा लगाने का बहुत शौक होता है. इससे प्रकृति की खूबसूरती भी महसूस की जा सकती है. अगर आप अपने घर में किचन गार्डन तैयार करना चाहते हैं, तो इसे आसानी से तैयार कर सकते हैं. इससे घर में सौंधी सी महक फैल जाएगी और आप घर पर लगाई गई सब्जियों व मसालों का स्वाद भी ले पाएंगे. आइए आपको कुछ ऐसे ही पौधों के बारे में बताते हैं, जिन्हें लगाकर आप अपना किचन गार्डन तैयार कर सकते हैं. इन पौधों को लगाना बहुत आसान है

पुदीना- इस पौधे को लगाना बहुत आसान होता है. इसकी पत्तियों को निकालकर बची हुई जड़वाली डंडियों को गमलों में खोंस दें. इसके बाद कुछ ही दिनों में हरा-हरा पुदीना लहलहाने लगता है.

धनिया पत्ती- इस पौधे को लगाने के लिए एक मुट्ठी पुराना धनिया लेकर लकड़ी के गुटके से मसल लें. जब वह दो भागों में टूट जाए, तब उसे अपनी क्यारी में फैला दें.

हरी मिर्च- इस पौधे को उगाने के लिए छायादार जगह की जरूरत होती है. इसके लिए आप सूखी मिर्च से बीजों को निकालकर क्यारी या गमलों में छिड़क दें.

अदरक- आप अगस्त-सितंबर में इसकी बुवाई कर सकते हैं. यह अपनी जड़ों में ही लगता है. इसके उगाने के लिए पुरानी अदरक की गांठों की थोड़े-थोड़े अंतराल पर बुवाई करते रहें और इस पर पानी देते रहें. बस कुछ दिनों बाद क्यारी में हरे रंग की पत्तियां निकल आएंगी.

अजवाइन- इस पौधे को पानी की बहुत कम जरूरत होती है. अगर आप अजवाइन को क्यारियों में डाल दें, तो  यह आसानी से उग जाती है.

garden

सौंफ- इसे मसालों की रौनक कहा जाता है. आप बस चौड़े गमलों में सौंफ छिड़क दीजिए. इसके बाद बारीक लहराती हरी-भरी खुशबूदार पत्तियां ऊपर से कच्ची सौंफ के सुंदर गुच्छे आ जाएंगे.

इसके अलावा आप जीरा, तुलसी, मीठा नीम जैसे पौधे उगा सकते हैं. हर छोटे-बड़े पौधों की देखभाल की बहुत जरूरत होती है. बता दें कि प्रकृति के साथ संवेदात्मक और प्यारभरा रिश्ता बनाकर रखना चाहिए, क्योंकि ये नन्हे पौधे सभी भावों के प्रति सजग होते हैं, इसलिए हर घर में एक किचन गार्डन ज़रूर होना चाहिए.

English Summary: Plant these 6 plants in the kitchen garden

Like this article?

Hey! I am कंचन मौर्य. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News