1. विविध

Gulab Jamun Recipe: बसंत पंचमी पर मां सरस्वती को लगाएं गुलाब जामुन का भोग, प्रसन्न होंगी विद्या की देवी

कंचन मौर्य
कंचन मौर्य
Gulab Jamun Recipe

Gulab Jamun Recipe

बसंत पंचमी (Basant Panchami 2021) का पर्व माघ माह के शुक्ल पक्ष की पंचमी को मनाया जाता है. इस दिन भारत में बसंत ऋतु का आरम्भ होता है, साथ ही मां सरस्वती की पूजा का विधान है. बता दें कि बसंत पंचमी (Basant Panchami 2021) की पूजा सूर्योदय के बाद और दिन के मध्य भाग से पहले की जाती है.

इस समय को पूर्वाह्न कहा जाता है. इस दिन आप मां सरस्वती (Maa Saraswati) को अपने हाथों से बने गुलाब जामुन का भोग भी लगा सकते हैं, क्योंकि मीठे में इंडियन डेजर्ट गुलाब जामुन को काफी पसंद किया जाता है. यह काफी मुलायम होते हैं, साथ ही इसमें भरा रस मुंह में जाते ही मानो घुल सा जाता है. अगर आप भी गुलाब जामुन काफी पसंद है, तो इन कुकिंग टिप्स से घर पर गुलाब जामुन बना सकते हैं.

गुलाब जामुन बनाने के लिए सामग्री

  • इंस्टेंट गुलाब जामुन मिक्स पाउडर

  • मैदा

  • चीनी

  • घी

गुलाब जामुन बनाने की विधि        

  • सबसे पहले इंस्टेंट गुलाब जामुन मिक्स पाउडर को एक चौड़े और बड़े बर्तन में निकाल लें.

  • इसे तब तक मलें, जब तक वह नरम, चिकना और गुथे हुए आटे की तरह न हो जाए.

  • अब चाशनी बनाने के लिए एक बड़े भगौने में चीनी लें, इसमें 300 ग्राम पानी गैस पर चढ़ा दें.

  • इसे बीच-बीच में चलाकर तब तक पकाएं, जब तक चाशनी में उबाल न जाए.

  • जब चाशनी पूरी तरह से घुल जाए, उसके बाद इसे 3 मिनट तक पकाएं. इस तरह चाशनी तैयार हो जाएगी.

  • इसके बाद गुलाब जामुन वाला मिक्सचर लेकर उन्हें गोल आकार दें, साथ ही एक प्लेट में रखते जाएं.

  • इसके बाद कड़ाही में घी डालें और गैस पर चढ़ा दें.

  • जब घी गर्म हो जाए, तब इसमें गुलाब जामुन वाली गोलियां तल लें.

  • जब गोली तल जाए, तब इसे निकाल कर प्लेट में रखें और ठंडा होने दें.

  • इसके बाद गोलियों को चाशनी में डुबो दें और करीब एक घंटे बाद निकालकर फ्रिज में रख दें.

  • इस तरह आपके गुलाब जामुन तैयार हो जाएंगे.

  • अब आप मां सरस्वती को भोग लगा सकते हैं.

Like this article?

Hey! I am कंचन मौर्य. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News