1. विविध

11 अक्टूबर के दूसरे शुक्रवार को ही अंतराष्ट्रीय अंडा दिवस क्यों मानते हैं? अंडा दिवस की विशेषता क्या है?

चन्दर मोहन
चन्दर मोहन
egg

‘संडे हो या मंडे, रोज खाएं अंडे’ ये कहावत हम सबने सुनी है. लेकिन क्या गर्मी के सीजन में अंडे का सेवन उतना ही सुरक्षित है, जितना की सर्दियों में. कुछ लोग इसे गलत मानते हैं और कुछ सच. दरअसल, अंडे के बारे में यह पुरानी धारणा बनी हुई है कि इसे गर्मी के मौसम में नहीं खाना चाहिए, क्योंकि इसकी तासीर गर्म होती है और इस सीजन में यह सेहत के लिए नुकसानदेह साबित हो सकता है. अंडा सेहत के लिए कितना फयदेमंद है, यह बात पूरी दुनिया जानती है. इससे होने वाले स्वास्थ्य और सौंदर्य लाभ के बारे में आज पूरी दुनिया में चर्चा हो रही है, और इसके प्रति जागरूकता फैलाने के प्रयास किए जा रहे हैं. विशेष रूप से आज अंडे के प्रति जागरूकता फैलाने का कारण अगर आप नहीं जानते तो हम आपको बता दें कि आज विश्व अंडा दिवस है.

भारत दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा अंडा उत्पादक है लेकिन आधिकारिक जानकारी के अनुसार देश में प्रति व्यक्ति, प्रति वर्ष अंडे की उपलब्धता केवल 55 के आसपास है. राष्ट्रीय पोषाहार संस्थान की सिफारिश के अनुसार प्रत्येक व्यक्ति को साल में 180 अंडों का सेवन करना चाहिए क्योंकि अंडा अपने आप में पूरी तरह से पौष्टिक आहार है. जी हां, प्रोटीन के अलावा अंडे में पाए जाने वाले कई पोषक तत्वों और उससे होने वाले फायदों के बारे में चर्चा करने के लिए अक्टूबर माह के दूसरे शुक्रवार को चुना गया है. यही कारण है कि हर साल अक्टूबर महीने के दूसरे शुक्रवार के दिन विश्व अंडा दिवस मनाया जाता है. विश्व अंडा आयोग ने हर साल अक्टूबर के दूसरे शुक्रवार को इस दिवस के आयोजन की घोषणा अंडे के पौष्टिक गुणों के प्रति जागरूकता बढ़ाने के उद्देश्य से की है.

eeg

इसमें प्रोटीन की अच्छी मात्रा के साथ-साथ कई तरह के विटामिन और अमीनो एसिड व लवण पाए जाते हैं जो शरीर को पूरी तरह से स्वस्थ रखने में सहायक है.इसके अलावा अंडों में लुईटीन और जेक्सेन्थीन नामक पोषक तत्व भी पाए जाते हैं जिनका पता नई रिसर्च के आधार पर चला है. विज्ञापन जिसमें कहा गया था- संडे हो या मंडे, रोज खाएं अंडे. इस कारण अगर आप रोज अंडे खाने की आदत बना चुके हैं तो अब थोड़ा अंडे का फंडा भी समझ लें. शोध कहते हैं कि ये आपकी सेहत भी बिगाड़ सकते हैं, बता रही हैं रॉकलैंड की वरिष्ठ डाइटीशियन डॉं. सुनीता रॉय चौधरी पर डाइट एक्सपर्ट और हाल में हुए कुछ शोध के परिणाम कुछ और ही बयां करते हैं. शोध रिपोर्टों के मुताबिक गर्मियों में अंडे के सेवन को लेकर कई भ्रांतियां हैं. लेकिन ये सब सिर्फ एक वहम है. गर्मियों में अंडे को नजरअंदाज करने का सिर्फ एक ही कारण हो सकता है और वह यह कि अंडे में कॉलेस्ट्रॉल की अत्यधिक मात्रा पाई जाती है.

प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट, वसा, राइबोफ्लेविन, कोलिन, विटामिन बी12, डी, ए, बी6, फोलेट, सेलेनियम, फॉस्फोरस, आयरन, जिन्क, कैल्शियम, पोटेशियम, मेग्नीशियम आदि. अगर आप सेहतमंद हैं, आपकी जीवनशैली ठीक है और आप संतुलित आहार लेते हैं तो एक दिन में एक अंडा खा सकते हैं. यदि अंडा बहुत ज्यादा पसंद है तो भी दिन में दो से ज्यादा न खाएं. इससे ज्यादा अंडों का सेवन मुश्किलें बढ़ा सकता है, क्योंकि इससे किडनी पर भार पड़ता है. जिन्हें किडनी संबंधी समस्या हो, उन्हें अंडों का सेवन कम मात्रा में या डॉक्टर की सलाह से करना चाहिए.

English Summary: Egg day special : What is the specialty of Egg Day? Advantages and disadvantages of eating eggs

Like this article?

Hey! I am चन्दर मोहन. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News