Others

मिट्टी के बर्तनों का उपयोग आज के समय में क्यों है जरूरी, जानिए इस्तेमाल करने का तरीका

earthen pots for cooking

आजकल हमारे पास कई तरह के नॉनस्टिक पैन या बर्तन हैं लेकिन मिट्टी के बर्तन में खाना पकाने के अपने फायदे हैं जिनके बारे में हम में से बहुत से लोगों को जानकारी नहीं है. मिट्टी के बर्तन में खाना पकाने से न केवल कई स्वास्थ्य लाभ मिलते हैं बल्कि यह हमारे खाना पकाने की प्रक्रिया को भी आसान बनाता है और साथ ही हमें अधिक स्वादिष्ट और पौष्टिक भोजन देता है. इसके कई स्वास्थ्य लाभों के कारण, आयुर्वेद भी मिट्टी के बर्तन में भोजन पकाने का सुझाव देता है. इसके अलावा मिट्टी के बर्तन में खाना बनाना एक सामान्य बर्तन में पकाने से बहुत बेहतर है क्योंकि यह हमारे द्वारा खाए जाने वाले भोजन की गुणवत्ता में सुधार करता है.

खाना पकाने के लिए हमें मिट्टी के बर्तनों का उपयोग क्यों करना चाहिए?

मिट्टी के बर्तनों में खाना पकाने की शुरुआत करने का सबसे ठोस कारण यह है कि यह आपके भोजन में हानिकारक धातुओं की कमी नहीं करता है. मिट्टी के बर्तन न केवल आपके और आपके भोजन के लिए बल्कि पर्यावरण के लिए भी अच्छे हैं. विशेषज्ञों का कहना है कि मिट्टी के बर्तन में खाना पकाने के स्वास्थ्य लाभ बहुत बड़े हैं. सबसे पहले, वे आपके भोजन में लोहा, कैल्शियम, फॉस्फोरस, सल्फर और मैग्नीशियम जैसे कई आवश्यक पोषक तत्व शामिल करते हैं जो शरीर के लिए बेहद फायदेमंद होते हैं. मिट्टी के बर्तन में खाना पकाने के लिए भी तेल की आवश्यकता नहीं होती है और इसलिए, यह देखा गया है कि मिट्टी के बर्तनों में पकाया गया भोजन किसी अन्य बर्तन में तैयार भोजन की तुलना में वसा में कम होता है.

indian pots for cooking

मिट्टी के बर्तन के फायदे

मिट्टी के बर्तन किफायती और आसानी से उपलब्ध होते  हैं

कई दुकानें हैं जो मिट्टी के बर्तन बेचती हैं जिससे आपको इसे खरीदने में कोई परेशानी नहीं होगी. किसी भी अन्य प्रकार के खाना पकाने के बर्तन की तुलना में मिट्टी के बर्तन काफी सस्ते होते हैं. आप अपनी जेब बिना ढीले किये भी इन्हें आसानी से विभिन्न आकारों में खरीद सकते हैं.

यह भोजन के पोषण को बनाए रखते हैं

मिट्टी के बर्तन भोजन के पोषण को बनाए रखते हैं जो आमतौर पर अन्य प्रकार के बर्तनों में खो जाता है. मिट्टी के बर्तनों में थर्मल जड़ता मांस को लंबे समय तक कोमल और नरम रखने के विशेष गुण होते है जिससे वह जल्दी सख्त नहीं होता.

कम तेल का उपयोग

इसकी गर्मी प्रतिरोध और धीमी गति से खाना पकाने के कारण, भोजन अपने सभी तेलों और नमी को बरकरार रखता है; नतीजतन, आपको अपने भोजन को नमी प्रदान करने के लिए अतिरिक्त तेल और वसा की आवश्यकता नहीं होगी.

mitti ke kulhad

मिट्टी के बर्तन स्वादिष्ट भोजन सुनिश्चित करते हैं

मिट्टी के बर्तनों की धीमी गति से खाना पकाने और झरझरा प्रकृति के कारण, बर्तन में नमी और सुगंध बिना किसी पोषक तत्व को खोए रहती है, जिससे यह स्वादिष्ट होता है.इसके अलावा, इसमें खाना बनाने से मिट्टी का स्वाद आपके खाने को और स्वादिष्ट बनाता है जो कि आपको किसी अन्य बर्तन में नहीं मिल सकता है.                                                   

मिट्टी के बर्तनों का उपयोग कैसे करें

हर बार मिट्टी के बर्तनों का उपयोग करने से पहले आपको इसे पानी में भिगोने की ज़रूरत होती है (अगर बिना पका हुआ हो). कम से कम 10-15 मिनट के लिए इसको ठंडे पानी में डुबो दें. फिर यह खाने पकाने के लिए तैयार है. यह भी याद रखें कि मिट्टी के बर्तन तापमान परिवर्तन के प्रति संवेदनशील होते हैं और आसानी से टूट जाते है इसलिए इसे कभी भी अत्यधिक तापमान में न पकाए.



Share your comments