चीनी सीख रहे अदरक की खेती करना

हम सभी जानते है कि अदरक सेहत के लिए कितना फायदेमंद होता है इसीलिए अब अदरक की स्वाद देश नहीं विदेश में भी काफी मशहूर होता जा रहा है। भारत का एक बेटा चीन में अदरक की खेती करके दुनियाभर में अपने नाम को मशहूर करने में लगा हुआ है। वह चीन के किसानों को भी अदरक की खेती करना सिखा रहा है। दिलचलस्प बात यह है कि चावल के मुकाबले अदरक की खेती से ज्यादा कमाई आसानी से की जा सकती है लिहाजा चीन के किसान अब अदरक की खेती में काफी दिलचस्पी दिखाने लग गए है। 32 वर्षीय कोट्टुवाला अब्दुल मतेड ने चीन में जाने के बाद अपना नाम बदलकर वांग हुई रख लिया था। अब्दुल ने हुबेई प्रांत के थ्री गोर्सेस विश्वविद्यालय में पढ़ाई की और 12 सालों तक चीन में रहा। इसी दौरान अब्दुल को लुई जुएक्विन से प्रेम हो गया। बाद में दोनों ने शादी कर ली। अब्दुल ने कहा, मेरा परिवार दिल्ली में कृषि उत्पादों का बिजनेस करता है। मैंने बिजनेस के दौरान ही विदेशों में अदरक की बढ़ती मांग देखी थी। इसके बाद चीन आकर मुझे लगा इसकी खेती करनी चाहिए और उसके बाद उसने ये खेती करना शुरू कर दिया।इसके लिए अब्दुल ने वर्ष २०१६ में अपने ससुर लियू वीपिंग के साथ मिलकर अदरक की खेती की तकनीक और उसके बारे में गहराई से जानने के लिए शेडोंग प्रांत की यात्रा की है। उसके बाद वह अपने शहर जियाशी लौटकर कुछ अच्छी किस्म के अदरक और पौधे लगाए है। हालांकि उनका यह पौधे लगाने वाला परीक्षण काफी सफल रहा है।

किसानों के लिए कोऑपरेटिव भी बनाया

इसके बाद उन्होंने चीन सरकार से वित्तीय मदद लेकर 2.1 हेक्टेयर खेती में अदरक लगाने का फैसला लिया। इसमें एक लाख किलोग्राम तक अदरक का उत्पादन हुआ। अब्दुल ने कहा, अगर ठीक तकनीक का प्रयोग किया जाए तो इससे 10 लाख युआन (लगभग 106 लाख रुपये) तक कमा सकते हैं। इसके बाद दोनों ने अदरक की खेती का विस्तार करने के लिए ग्रामीणों से 20 हेक्टेयर की जमीन किराए पर ली। उन्होंने ग्रामीणों की मदद के लिए जिंजर कल्टीवेशन कोऑपरेटिव भी बनाया है।

अदरक की खेती से हो रही खूब कमाई

बता दे कि अब्दुल अदरक की खेती को और तेजी से आगे बढ़ाना चाहते है इसीलिए वे अगले साल ३३. लाख हेक्टेयर में अदरक को लगाने की योजना बनाने में लगे हुए है। इसके अलावा वह इस सफल प्रयोग को स्थानीय लोगों के साथ भी अपने अनुभव को साझा करने का कार्य करेंगे। अब्दुल एक एमयू (0.06 हेक्टेयर) खेत में धान की खेती से 500 युआन (लगभग 5335 रुपये) से कम कमा पाते थे, लेकिन अदरक से पांच हजार युआन (लगभग 53350 रुपये) तक कमाते हैं। उन्होंने अदरक की खेती से किसानों को दो लाख युआन (लगभग 21 लाख रुपये) तक कमाने में सक्षम बनाया है।

किशन अग्रवाल, कृषि जागरण

Comments