News

इस 2 जुलाई के सूर्य ग्रहण से क्या होगा ? क्या किसी उपाय की जरूरत है?

surya-grahan

जुलाई माह शुरू होते ही सूरज ग्रहण का सामना करना पढ़ रहा है. यह बात ज्योतिषियों के लिए और ग्रहण आदि को मानने वालों के लिए ख़ास हो सकती है, लेकिन मजेदार बात यह है कि भारत में यह ग्रहण नजर भी नहीं आएगा. सोचने वाली बात यह है कि जब भारत में सूरज ग्रहण नजर भी नहीं आ रहा तो फिर यह लेख क्यों?

देखा जाए तो ग्रहण एक खगोलीय घटना है और इसके लिए वैज्ञानिक तथ्य भी मौजूद हैं. यदि विश्व मानचित्र पर नजर दौड़ाएं तो पता चलता है की रात को 11 बजे के बाद यदि ग्रहण लग रहा है ये कौन से देश में नजर आएगा और इसके क्या मायने हैं ?

हालाँकि भारत में यह ग्रहण दिखाई नहीं देगा फिर भी सूर्य ग्रहण की तस्वीर आपको दिखा रहे हैं की ग्रहण कैसा दिखेगा !

सूर्य ग्रहण न्यूजीलैंड से शुरू होगा और दक्षिणी प्रशांत महासागर, चिली और अर्जेंटीना के कई हिस्सों में नजर आएगा. इसके अलावा इसे कुछ अन्य दक्षिण अमेरिकी देशों जैसे ब्रजील, उरुग्वे में भी देखा जा सकेगा. बता दें कि जब सूर्य और पृथ्वी के बीच चंद्रमा आ जाता है, तो इसे ही सूर्य ग्रहण कहते हैं.

Surya Grahan

मान्याताओं के अनुसार क्या करें और क्या न करें-- ग्रहण के दौरान किसी भी शुभ कार्य को करने या इसकी शुरुआत करने की मनाही होती है.

  • ग्रहण के दौरान भोजन या पानी नहीं पीने की सलाह दी जाती है. गर्भवती स्त्री, बच्चे या बीमार व्यक्ति को जरूरत पड़ने पर उसी भोजन को करने की सलाह दी जाती है, जिस पर तुलसी का पत्ता रखा गया हो.

  • ग्रहण के दौरान खाना बनाना भी वर्जित माना गया है. साथ ही तेल का इस्तेमाल भी नहीं करना चाहिए.

  • गर्भवती स्त्रियों को खास ध्यान देने की जरूरत होती है. गर्भवती स्त्रियों को घर से बाहर न निकलने की सलाह दी जाती है. उन्हें ग्रहण के दौरान चाकू, ब्लेड, कैंची जैसी काटने वाली चीजों के इस्तेमाल से बचना चाहिए. इससे गर्भ में पल रहे बच्चे के विकास पर बुरा प्रभाव पड़ता है.

  • ग्रहण काल के बाद स्नान करना चाहिए और घरों आदि की सफाई की जानी चाहिए.

इस साल जुलाई की शुरुआत में ही सूर्य ग्रहण होने जा रहा है. यह ग्रहण 2 जुलाई को लगेगा और इस प्रकार ये साल का दूसरा सूर्य ग्रहण होगा. इस साल का पहला सूर्य ग्रहण 5 जनवरी को लगा था जबकि तीसरा सूर्य ग्रहण दिसंबर में लगेगा.

इस बार जुलाई का महीना ज़रूर अहम बन गया है क्योंकि दो ग्रहण इस महीने में पड़ने वाले है. ये दोनों ग्रहण जुलाई में 15 दिनों के अंदर लगने वाले हैं. 2 जुलाई को जहां पूर्ण सूर्य ग्रहण है वहीं 17 जुलाई को चंद्र ग्रहण लगने वाला है. हालांकि, 2 जुलाई को लगने वाला सूर्य ग्रहण भारत में नहीं दिखाई देने वाला है, क्योंकि जब ग्रहण लगा होगा तब भारत में रात होगी.

भारतीय समय क्या है ?

चूंकि सूर्य ग्रहण भारत में दिखाई नहीं देगा और यहां ग्रहण के समय रात होगी, इसलिए इसका सूतक भी यहां नहीं लगेगा. हालांकि, इसके बावजूद इस समय कुंडली और ग्रहों की स्थिति के कारण कुछ फर्क पड़ सकता है. यह सूर्य ग्रहण लगभग 4 घंटे और 55 मिनट का होगा. ग्रहण 2 जुलाई की रात 11 बजकर 55 मिनट से शुरू होगा और 3 जुलाई की सुबह 3 बजकर 20 मिनट तक रहेगा.

दुनिया के किन हिस्सों में दिखेगा ?

2 जुलाई को लगने वाला सूर्य ग्रहण प्रशांत महासागर सहित दक्षिणी अमेरिका में दिखाई देगा. इस लिहाज से न्यूजीलैंड के तट से सूर्य ग्रहण दिखाई देने लगेगा. इसके अलावा यह चिली और अर्जेंटीना के कई हिस्सों में नजर आएगा. साथ ही इसे कुछ अन्य दक्षिण अमेरिकी देशों जैसे ब्रजील, उरुग्वे में भी देखा जा सकेगा.



Share your comments