1. ख़बरें

राशन कार्ड धारकों को गेहूं, चावल, चना और नमक के साथ रिफाइंड मिलेगा फ्री

स्वाति राव
स्वाति राव

Agriculture

कोरोना महामारी के दौरान लोगों को भोजन की कमी ना हो,  इसके लिए सरकार ने राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम (एनएफएसए) के तहत प्रधानमंत्री  गरीब कल्याण अन्न योजना की शुरुआत की थी. इस योजना के तहत लगभग 80 करोड़ लाभार्थियों को राशन कार्ड द्वारा प्रति माह के हिसाब से पांच किलोग्राम अतिरिक्त रूप से निःशुल्क अनाज (चावल/गेहूं) दिया जाने की घोषणा की थी.

इस चलते अब उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने गरीब और जरूरतमंद लोगों के लिए पहली बार सभी राशनकार्ड धारकों को गेहूं व चावल के साथ फ्री में रिफाइंड, चना और नमक दिया जाने की घोषणा की है.

राशन की किस तरह की होगी पैकिंग (What Will Be The Packing Of Ration)

यह सभी खाद्य उत्पादक पैकिंग में होगा और इस पैकिंग की खास बात यह है कि इसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की फोटो (Photo of Narendra Modi and Chief Minister Yogi Adityanath ) भी छपी होगी. हर पैकिंग की अलग – अलग वस्तुओं के हिसाब से रंग होगा. इसके अलावा इस पर “हर मुश्किल में आपके साथ और सोच ईमानदार काम दमदार” का  स्लोगन भी लिखा होगा. 

वहीं, इस योजना को राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम 2013 के तहत शुरू किया गया है, ताकि देश के हर गरीब और जरुरतमंद लोग को खाने की कमी न पड़े. इसमें पात्र राशन कार्डधारकों को प्रति यूनिट पांच किलो राशन और अन्त्योदय कार्डधारकों को 35 किलो गेहूं और चावल दिया जाता है. बता दें कि यह योजना सरकार ने दिसम्बर 2021 से मार्च 2022 तक के लिए बढ़ा दी है. वैसे  सरकार द्वारा दो रुपए प्रति किलो गेहूं और तीन रुपए प्रति किलो चावल दिया जाता है.

इस खबर को भी पढ़ें - राशन कार्ड में मोबाइल नंबर बदलने की प्रक्रिया और इसके फायदे

कब तक होगी इसकी शुरुआत (When Will It Start)

जिला पूर्ति अधिकारी ने बताया कि खाद्य एवं औषधि प्रशासन की ओर से जांच भी की जा रही है. उसके बाद वितरण होगा. उन्होंने बताया कि अभी वितरण की तारीख नहीं आई है, लेकिन नौ या 10 दिसम्बर 2021 से वितरण की संभावना है.

English Summary: ration card holders will get refined, gram and salt for free along with wheat rice

Like this article?

Hey! I am स्वाति राव. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters