1. ख़बरें

गांव के कचरे से किसान खेत में बना रहे खाद, हो रही अच्छी कमाई

कंचन मौर्य
कंचन मौर्य
Waste Manure

Waste Manure

अक्सर हम सभी अपने घर के बेकार वस्तुओं को कचरा समझकर फेंक देते हैं, लेकिन शायद हम ये नहीं जानते हैं कि उस कचरे का उपयोग किया जा सकता है. अब आप सोच रहे होंगे कि आखिर ऐसा कैसे हो सकता है.

मगर आज हम आपको तेलंगाना के एक ऐसे गांव के बारे में बताने जा रहे हैं, जिसकी आजकल काफी चर्चा हो रही है. यहां लोगों ने कचरे का उपयोग करना अपनी आदत बना लिया है. इस तरह गांव वाले पर्यावरण की मदद कर रहे हैं, साथ ही काफी अच्छा पैसा भी कमा रहे हैं. जी हां, गांव के लोगों ने कचरे को अपनी कमाई का जरिया बना लिया है.

दरअसल, यह कहानी तेलंगाना के एक गांव की है. जहां लोग कचरे का उपयोग करके अच्छा रेवेन्यु जनरेट कर रहे हैं. अगर आप चाहें, तो आप भी इस तरह का पर्सनल लेवल पर कारोबार की शुरू कर सकते हैं. इससे आप पर्यावरण को स्वच्छ रखेंगे, साथ ही अच्छा पैसे भी कमाएंगे.

गांव के बाहर बनाया डंप यार्ड

गांव के लोगों ने बाहर एक डंप यार्ड बना रखा है. जहां गीले और सूखे कचरे को अलग किया जाता है. इसके साथ ही कचरे को फिर से रिसाइकिल करके अलग कर लिया जाता है. इसके बाद जो कचरा जलाने लायक होता है, उसे जला दिया जाता है. फिर इसकी राख का भी दोबारा उपयोग किया जाता है. फिर सूखे कचरे को सूखाया जाता है और डिकम्पोस्ट किया जाता है. शायद आपको ये जानकर हैरान होगी कि इस तरह गांव के लोगों ने लगभग 70 हजार रुपए तक का रेवेन्यु जनरेट किया है.

खाद की है काफी डिमांड

इसके जरिए गांव के किसान अपने खेत में खाद भी बनाते हैं. इस खाद के लिए ट्रैक्टर का उपयोग किया जाता है. इस खाद की काफी अच्छी मांग भी है. सबसे खास बात यह है कि गांव के पंचायत ऑफिस में 32 सीसीटीवी कैमरा और पब्लिक एड्रेस के लिए 20 स्पीकर लगाए गए हैं. इसके जरिए गांव की गतिविधियों पर नजर रखी जाती है.

गांव में सोलर प्लांट लगाने की तैयारी

गांव में एक अंडरग्राउंड ड्रेनज सिस्टम है, साथ ही 40 किलोवाटर का सोलर प्लांट लगाने की तैयारी भी की जा रही है. बता दें कि गांव में सिर्फ 27 केवी की ज़रूरत है. इसके बाद बची हुई बिजली को ग्रिड में दिया जाएगा.

English Summary: People are earning well from waste in a village in Telangana

Like this article?

Hey! I am कंचन मौर्य. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News