News

अटल पेंशन योजना में हुए 5 बड़े बदलाव, जानिए क्या है नए नियम

मोदी सरकार की अटल पेंशन योजना (Atal Pension Scheme)  द्वारा कमजोर आयवर्ग के लोगों को आर्थिक मदद उपलब्ध कराई जाती है. यह एक सामाजिक सुरक्षा योजना है. इस महत्वाकांक्षी योजना को लगभग 5 साल हो गए हैं. इसके तहत हर महीने कुछ राशि निवेश की जाती है, जो कि रिटायरमेंट के बाद हर महीने पेंशन के रुप में मिलती है. यह राशि 1 से 5 हजार रुपए तक की होती है. इसी कड़ी में मोदी सरकार द्वारा अटल पेंशन योजना में 5 बड़े बदलाव किए गए हैं. आइए आपको योजना में हुए इन 5 बड़े बदलाव के बारे में बताते हैं.

ये खबर भी पढ़ें: राज्य सरकार कामधेनु डेयरी योजना के तहत डेयरी लगाने के लिए देगी 90 प्रतिशत तक लोन, जानें शर्तें और आवेदन की प्रक्रिया

अटल पेंशन योजना में बड़े बदलाव

  • अब इस योजना में अपग्रेड/डाउनग्रेड की सुविधा नहीं दी जाएगी. यानी आप अटल पेंशन योजना सब्सक्राइबर साल में 1 बार चुनी गई राशि को अपग्रेड/डाउनग्रेड कर सकते हैं.

  • इस योजना सब्सक्राइबर PRAN कार्ड की हार्ड कॉपी eNPS पोर्टल द्वारा प्राप्त कर सकते हैं.

  • अटल पेंशन योजना ट्रांजैक्शन वेबसाइट पर सब्सक्राइबर की जानकारी मिलेगी.

  • आप https://npscra.nsdl.co.in/ पर जाकर अटल पेंशन योजना सब्सक्राइबर APY सेक्शन के तहत ePRAN डाउनलोड कर सकते हैं.

  • अगर अकाउंट होल्डर की मृत्यु हो जाती है, तो उसके बाद पति या पत्नी उस अकाउंट को जारी रख सकते हैं.

आपको बता दें कि इस योजना में निवेश करने के बाद रिटायर होने पर हर महीने पेंशन दी जाती है. इसकी सबसे बड़ी खासियत है कि अगर आपकी असामयिक मृत्यु होती है, तो आपके परिवार को इसका लाभ मिलता रहेगा. इसके तहत 60 साल की उम्र के बाद पेंशन मिलने लगती है. इस योजना से 18 साल से लेकर 40 साल तक की उम्र के लोग जुड़ सकते हैं. हालांकि, इस योजना का लाभ उन लोगों को ही मिलता है, जो कि इनकम टैक्स स्लैब से बाहर होते हैं.

ये खबर भी पढ़ें: मोबाइल से किसान क्रेडिट कार्ड बनाने का सबसे आसान तरीका



English Summary: Modi government made 5 changes in the Atal Pension Yojana

Share your comments


Subscribe to newsletter

Sign up with your email to get updates about the most important stories directly into your inbox

Just in