इन किसानों से सीखें वर्मीकम्पोस्ट के जरिए एक लाख प्रती माह कमाई का तरीका

छत्तीसगढ़ में इन दिनों खेती के नए-नए तौर तरीके देखने को मिल रहे हैं। किसानों के बीच खेती करने का उतसाह भी यहां काफी बढ़ता जा रहा है। छत्तीसगढ़ के कोरिया जिले के आदिवासी बहुल गांव जगतपुर के इक्कीस किसनों ने सामूहिक सामूहिक रूप से वर्मीकंपोस्ट का निर्माण कर मात्र तीन महीने में तीन लाख रुपये की कमाई की है। ये कार्य कृषि विज्ञान केंद्र कोरिया के मार्गदर्शन से किया गया है। वहीं सरकार की मुख्यमंत्री कौशल विकास योजना भी इस कार्य में अग्रिम भूमिका निभाई है। ग्राम जगतपुर में 100 केंचुआ खाद टांकों से प्रथम चक्र मे पांच टन केंचुआ खाद का उत्पादन किया गया।  आगे एक और अच्छी खबर ये है की इन टांकों से वर्षभऱ में चार चक्रों में लगभग बीस टन केंचुआ खाद का निर्माण होगा, जिससे समूह को सोलह लाख रुपये की सालाना आमदनी होगी।  

किसानों को हो रहे इस लाभ के लिए कई शासकीय संस्थाओं ने सहयोग किया है जिसमें कृषि विज्ञान केंद्र कोरिया, कृषि विभाग, उद्दनिकी आदि शामिल हैं। वहीं किसानों द्वारा तैयार किए जा रहे इस वर्मीकंपोस्ट की खरीदी आठ रुपये प्रति किलो की दर से खरीदी की जा रही है। वहीं कृषक समूह की अगर बात करें तो ये समूह अब तक तीन लाख रुपये की केंचुआ खाद बेच चुका है। बता दें की इंदिरा कृषि विश्वविद्दालय के कृषि विज्ञान केंद्र कोरिया द्वारा जिले के दूरस्थ अंचल स्थित आदिवासी बहुल गांव जगतपुर में 21 कृषकों का समूह गठित कर उन्हें मुख्यमंत्री कौशल विकास योजना के अंतर्गत वर्मीकंपोस्ट निर्माण के लिए 90 घंटे का प्रशिक्षण दिया गया।    

Comments