1. ख़बरें

फिर से न हो जाए ट्रेनों में अफरातफरी, इसलिए रेलवे ने उठाया ये बड़ा कदम

सचिन कुमार
सचिन कुमार

Indian Railway

कोरोना की दूसरी लहर पहले से भी ज्यादा घातक बताई जा रही है, जिससे एक बार फिर मानव समुदाय के बीच उथल-पुथल का आलम है और वर्तमान हालात को देखकर सभी लोग खौफ में आ चुके हैं. इस बीच अब रेलवे ने एक ऐसा ही कदम उठाया है, जिसके तहत लोगों की बढ़ती आमद को देखते हुए ट्रेनों की संख्या बढ़ाई जा रही है और सभी को सुविधाजनक यात्रा उपलब्ध हो सके इस दिशा में लगातार स्पेशल ट्रेन चलाने का सिलसिला जारी है, ताकि यात्रियों को किसी भी प्रकार की समस्या का सामना न करना पड़े.

यहां हम आपको बताते चले कि लगातार बढ़ते कोरोना के कहर को मद्देनजर रखते हुए पिछले कुछ दिनों से यात्रियों की आमद ट्रेनों में काफी ज्यादा बढ़ गई है. खासकर, तब जब पिछले कुछ दिनों से लगातार देश में संपूर्ण लॉकडाउन की खबरें सामने आ रही है. अब आखिर इसमें सच्चाई कितनी है. यह एक अलग विषय है, लेकिन लॉकडाउन के खौफ की वजह से लगातार शहरों से गांवों की तरफ लोगों के रूखसत होने का सिलसिला शुरू हो चुका है. कुछ लोगों का कहना है कि वे नहीं चाहते हैं कि उन्हें पूर्व की भांति दर्द रूपी वेदना को महसूस करना पडे. वे नहीं चाहते हैं कि उन्हें मीलों दूर पैदल सफर करने पर मजबूर होना पड़े. लिहाजा, वे अभी से ही एहतियात बरतते हुए अपने घरों की ओर रवाना हो रहे हैं. वहीं, शादियों का मौसम भी अपने चरम पर पहुंच चुका है. आपकी जानकारी के लिए बता दें कि कोरोना दिशानिर्देश के मुताबिक, सरकार ने कोविड पास के सहारे लोगों को शादियों में 50 लोगों के शिरकत करने की इजाजत दे दी है, जिसको ध्यान में रखते हुए लोगों के रूखसत होने का सिलसिला शुरू हो चुका है.

खैर, अब आगे जो भी हो, लेकिन रेलवे ने बीते वर्ष के अनुभवों को ध्यान में रखते हुए अपनी सभी व्यवस्थाओं को दुरूस्त करना ही मुनासिब समझा है, जिसके तहत अब तक  भारतीय रेलवे 140 अतरिक्त ट्रेन चलाने की घोषणा कर चुकी है. एक दिन में 1490 ट्रेनें चलाई जा रही है. इसके आगे 28 स्पेशल ट्रेनों को चलाने की योजना है. 

इस संदर्भ में विस्तृत जानकारी देते हुए रेलवे बोर्ड के चेयरमैन सुनीत शर्मा ने कहा कि वे सभी लोग, जो यात्रा करना चाहते हैं, उनके लिए ट्रेनों की कोई कमी नहीं है. मांग के अनरूप ही ट्रेनों का संचालन किया जा रहा है और आगामी भविष्य में किसी को कोई समस्या न हो इसका पूरा ख्याल रखा जा रहा है.

English Summary: indian railway took a big decision

Like this article?

Hey! I am सचिन कुमार. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News