1. ख़बरें

Pashu Kisan Credit Card Scheme: इस राज्य में जारी होंगे 1 लाख क्रेडिट कार्ड, दोगुनी होगी किसानों की आय

कंचन मौर्य
कंचन मौर्य

किसानों की आमदनी दोगुनी की जा सके, इसलिए केंद्र सरकार द्वारा किसान क्रेडिट कार्ड (kisan credit card) की योजना लागू की गई है. इसके तहत ही पशु किसान क्रेडिट कार्ड योजना (Pashu kisan credit card scheme) शुरू की गई है, जिससे किसान और पशुपालक अपनी आमदनी दोगुनी कर सके. इसी बीच हरियाणा सरकार ने एक अहम फैसला किया है. दरअसल, राज्य सरकार ने 15 अगस्त से पहले बैंकों द्वारा आवेदकों को लगभग 1 लाख क्रेडिट कार्ड जारी करने का लक्ष्य बनाया है. यह जानकारी कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री जय प्रकाश दलाल द्वारा दी गई है.

क्या है पशु किसान क्रेडिट कार्ड योजना

इसका लाभ सभी किसान उठा सकते हैं. इस योजना के तहत भैंस, गाय, बकरी आदि खरीदने के लिए अलग से लोन दिया जाता है. इसके साथ ही पशुओं का बीमा कराया जा सकता है. अगर बीमित पशु की मृत्यु हो जाती है, तो आपको 24 घंटे के भीतर बीमा कंपनी को सूचित करना होता है.

ये खबर भी पढ़े: Pashu kisan credit yojana के तहत मिल रहा डेयरी लोन, भैंस के लिए 60249 तो गाय के लिए मिलेगा 40783 रूपये

कृषि मंत्री के मुताबिक

राज्य में कई किसान और पशुपालक हैं, जो खेती और पशुपालक कर अपनी जीविका चलाते हैं, इसलिए उन्हें पशु किसान क्रेडिट कार्ड योजना का लाभ दिया जाएगा. इससे खेती के साथ-साथ किसान पशुपालन से भी अपनी आमदनी दोगुनी कर सकते हैं.

आपको बता दें कि राज्य सरकार अपने किसानों के लिए कई तमाम योजनाएं चला रही है. ऐसी एक मेरी फसल-मेरा ब्यौरा (Meri Fasal Mera Byora) योजना है, जिसको काफी महत्वाकांक्षी माना जाता है. इसका मुख्य उद्देश्य है कि फसलों की खरीद प्रक्रिया में पूर्ण पारदर्शिता लाकर किसानों (Farmers) की मदद की जाए. बताया जा रहा है कि इसके पोर्टल पर 31 अगस्त तक धान और बाजरे की बोयी गई फसल के रकबे की जानकारी दर्ज हो जाएगा. अब राज्य सरकार का प्रयास है कि पशु किसान क्रेडिट कार्ड योजना के जरिए किसानों को लाभ पहुंचाया जाए, ताकि आने वाले समय में उनकी आमदनी दोगुनी हो सके.

ये खबर भी पढ़े: खुशखबरी: किसानों को 30 दिन में मिलेगा पशु किसान क्रेडिट कार्ड, बैंक में करें आवेदन

English Summary: Haryana government will issue 1 lakh Pashu credit cards from August 15

Like this article?

Hey! I am कंचन मौर्य. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News