News

खुशखबरी: धान न लगाकर हाइब्रिड सब्जियां उगाने पर किसानों को मिलेंगे 15 हजार रुपए, जानिए कैसे

haryana news

हरियाणा किसानों के लिए बागवानी विभाग द्वारा एक बड़ी खुशखबरी दी गई है जिसमें किसानों को मेरा पानी मेरी विरासत योजना के तहत एक बड़ा लाभ दिया जाएगा. दरअसल, राज्य के किसानों को प्रोत्साहित किया जा रहा है कि इस बार वह धान की जगह सब्जियों की खेती करें. इसके लिए किसानों को बागवानी विभाग और कृषि विभाग द्वारा अनुदान राशि प्रदान की जाएगी. 

किसानों को मिलेगा अनुदान

अगर किसान धान न लगाकर हाइब्रिड सब्जी उगाते हैं, तो उन्हें बागवानी विभाग की तरफ से 8 हजार रुपए का अनुदान दिया जाएगा, साथ ही कृषि विभाग की तरफ से 7 हजार रुपए प्रति एकड़ अनुदान राशि दी जाएगी. इसके अलावा किसानों को सब्जी का बीज भी निशुल्क उपलब्ध कराया जाएगा. इतना ही नहीं, अगर किसान खेती में ड्रिप प्रणाली को अपनाते हैं, तो उन्हें 40 हजार रुपए तक की अनुदान राशि प्रदान की जाएगी.

ये खबर भी पढ़ें: करोड़ों खाताधारकों के लिए 30 जून से बदल जाएंगे बैंकों के नियम, पढ़िए इसकी पूरी जानकारी

haryana farmer

विभाग के मुताबिक...

इस बार राज्य में 900 एकड़ में सब्जी की खेती करने का लक्ष्य तय किया गया है, जिसको बागवानी विकास मिशन के तहत पूरा किया जाएगा. बता दें कि हाल ही में हरियाणा सरकार ने मेरा पानी मेरी विरासत योजना शुरू की है. इस योजना के तहत किसानों को पानी की बचत करने के लिए प्रोत्साहित किया जा रहा है. इससे किसानों की आमदनी भी दोगुनी हो पाएगी.

राज्य सरकार का लक्ष्य

किसान कम पानी में अधिक पैदावार वाली फसलों की खेती करें. इसके लिए उन्हें धान की जगह अन्य फसलों की खेती करने के लिए प्रोत्साहित किया जा रहा है. अगर इस बार किसान धान न लगाकर हाइब्रिड सब्जी की खेती करता है, तो उस किसान को बागवान विभाग और कृषि विभाग द्वारा अनुदान राशि दी जाएगी. इसमें कृषि विभाग द्वारा 7 हजार और बागवान विभाग द्वारा 8 हजार रुपए दिए जाएंगे. बता दें कि अगर किसान भिंडी की खेती करना चाहतें हैं, तो उन्हें नेशनल शीड कॉरपोरेशन द्वारा मुफ्त बीज भी उपलब्ध कराया जाएगा.

ये खबर भी पढ़ें: नोपल का जादुई पौधा बंजर जमीन को बनाएं खूबसूरत, उत्पादन पर टिकी है इस देश की अर्थव्यवस्था



English Summary: Haryana farmers will be given 15 thousand rupees for growing hybrid vegetables instead of paddy cultivation

कृषि पत्रकारिता के लिए अपना समर्थन दिखाएं..!!

प्रिय पाठक, हमसे जुड़ने के लिए आपका धन्यवाद। कृषि पत्रकारिता को आगे बढ़ाने के लिए आप जैसे पाठक हमारे लिए एक प्रेरणा हैं। हमें कृषि पत्रकारिता को और सशक्त बनाने और ग्रामीण भारत के हर कोने में किसानों और लोगों तक पहुंचने के लिए आपके समर्थन या सहयोग की आवश्यकता है। हमारे भविष्य के लिए आपका हर सहयोग मूल्यवान है।

आप हमें सहयोग जरूर करें (Contribute Now)

Share your comments


Subscribe to newsletter

Sign up with your email to get updates about the most important stories directly into your inbox

Just in