1. ख़बरें

खुशखबरी! केंद्र सरकार का बड़ा फैसला, MSP में हुई बढ़ोत्तरी

कंचन मौर्य
कंचन मौर्य
Coconut Farming

Coconut Farming

देश की राजधानी दिल्ली की सीमाओं पर केंद्र सरकार द्वारा लाए गए तीन नए कृषि कानूनों (New Farm Bill) के खिलाफ लगातार किसानों का आंदोलन जारी है. दिल्ली में गणतंत्र दिवस के दिन टैक्टर मार्च के दौरान हिंसा का भी नजारा देखने को मिला था.

इसी बीच सरकार ने एक अहम फैसला लिया है. इसके तहत जो किसान कोपरा (सूखे नारियल) की खेती करते हैं, उन किसानों को एमएसपी का तोहफा दिया गया है.

कोपरा किसानों के लिए खुशखबरी

दरअसल, पीएम मोदी की अध्यक्षता में कैबिनेट की बैठक हुई. इस बैठक में कोपरा की एमएसपी को बढ़ा दिया गया है. इसकी जानकारी केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने दी है. उन्होंने कहा कि कोपरा की खेती करने वाले किसानों के लिए एक महत्वपूर्ण फैसला लिया गया. 

आज MSP में बढ़ोतरी की गई. बता दें कि इसकी MSP 375 रुपए से ज़्यादा बढ़कर 10,335 रुपए प्रति क्विंटल कर दी गई है. इसकी लागत मूल्य 6805 है. इसके साथ ही बॉल कोपरा को 10,600 रुपए देने का फैसला लिया गया है. इसमें 300 रुपए MSP बढ़ाया गया है. इसकी लागत का मूल्य 6,805  है, जिसमें 55 प्रतिशत वृद्धि की गई है.

आपको बता दें कि सरकार की तरफ से यह फैसला ऐसे वक्त में लिया गया है, जब दिल्ली के सीमाओं पर लाखों किसान पिछले 2 महीने से आंदोलन कर रहे हैं. बता दें कि किसान संगठन केंद्र सरकार द्वारा सितंबर महीने में लाए गए तीन नए कृषि कानूनों के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं. किसानों की मांग है कि इन तीनों कृषि कानूनों को बिलों को रद्द किया जाए. इसके साथ एमएसपी को कानूनी दर्जा दिया जाए.

इसके अलावा किसान संगठनों ने गणतंत्र दिवस पर दिल्ली ट्रैक्टर मार्च का आह्वान किया था, लेकिन आंदोलनकारी किसानों के ट्रैक्टर मार्च ने उग्र रूप ले लिया था. इस दौरान दिल्ली के अलग-अलग जगहों पर किसानों ने काफी उत्पात मचाया. इसके बाद कुछ जगहों पर पुलिस को बल का प्रयोग करना पड़ा, साथ ही आंदोलनकारियों ने पुलिस के ऊपर पत्थरबाजी की.

English Summary: Good News! Major decision of central government, increase in MSP

Like this article?

Hey! I am कंचन मौर्य. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News