MFOI 2024 Road Show
  1. Home
  2. ख़बरें

Free Ration: मुफ्त राशन पर सरकार ने लगाया पूर्ण विराम, अब देना होगा पैसा!

मुफ्त राशन को लेकर अब तक सरकार की ओर से भी कोई फैसला नहीं आया है. ऐसे में जानकारों का कहना है कि अब मुफ्त राशन पर सरकार ने विराम लगा दिया है.

प्राची वत्स
maufat ration ko lekar nyi khabar
मुफ्त राशन पर लगी रोक ?

योगी सरकार के आदेशों का पालन करते हुए अब राज्य में राशन दुकानों से मुफ्त गेहूं-चावल का वितरण बंद होने जा रहा है. आपको बता दें कि राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा योजना (एनएफएसए) के तहत मिलने वाले राशन पर अब कार्डधारकों को मूल्य चुकाना पड़ सकता है.

हालांकि, इस पर लगने वाले मूल्य रियायती होंगे. ऐसा इसलिए क्योंकि एनएफएसए के तहत फ्री राशन की योजना जून महीने तक के लिए ही थी. इसके बाद में उसे बढ़ाया गया था.

योगी सरकार की सत्ता में दोबारा वापसी के बाद अप्रैल से जून तक के लिए फ्री-राशन जनता को दिया जा रहा था. वहीँ जून महीने वाला गेहूं-चावल राशन कार्डधारकों को फ्री में दिया. अब जुलाई के नियमित वितरण के लिए कार्डधारकों से आवंटन के अनुसार पैसे जमा करवाए गए हैं.

मुफ्त चना, तेल, नमक भी होगा बंद

लगभग 9 महीने से कार्डधारकों को मुफ्त में चना, तेल और नमक दिया जा रहा था. नए आदेश के बाद अब यह भी बंद होने जा रहा है.  मुफ्त राशन के साथ इसे भी जून तक बढ़ाया गया था, लेकिन अब इस पर भी विराम लगने की खबर सामने आ रही है.

तेल, चना, नमक आपूर्ति करने वाली एजेंसी नैफेड ने तीनों खाद्य वस्तुओं को समायोजित करते हुए जिले से आवंटन मांगा है. इस प्रतिक्रिया पर जानकारों ने अपनी राय देते हुए कहा कि इस योजना को भी बंद किया जा सकता है. हालांकि इसको लेकर अभी तक कोई आधिकारिक बयान नहीं आया है. 

ये भी पढ़ें: Milk Price Hike: अमूल और मदर डेयरी ने फिर बढ़ाई दूध की कीमत, यहां पर जानें नए रेट

ऐसे में यह कह पाना की यह योजना पूरी तरह से बंद हो चुकी है यह गलत होगा. जैसे ही कोई आधिकारिक बयान सामने आता है हम आपको अवश्य सूचित करेंगे.

English Summary: Free Ration: The Government imposed a complete stop on free ration, now money will have to be given! Published on: 17 August 2022, 05:11 PM IST

Like this article?

Hey! I am प्राची वत्स. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News