1. ख़बरें

कद्दू ने बनाया वर्ल्ड रिकॉर्ड, सोशल मीडिया पर मची धूम

प्राची वत्स
प्राची वत्स
pumpkin

10 Quintal Pumpkin

आए दिन विश्व भर से कुछ न कुछ चौंका देने वाली ख़बरें हम सबके सामने आती रहती हैं. ऐसा ही कुछ अमेरिका के ओहयो में हुआ जिसने सबकी नज़र अपनी ओर खींच ली.

आपको बता दें अमेरिका के किसान का सिर्फ एक कद्दू करीब दस क्विंटल का तौला गया, इसके साथ ही इस कद्दू ने वर्ल्ड रिकॉर्ड बना डाला.इस कद्दू की तस्वीरें पोस्ट होते ही सोशल मीडिया पर हलचल पैदा हो गयी. चारों तरफ सिर्फ कद्दू ही कद्दू छाया रहा. कद्दू के आकर की बात करें तो कद्दू की लंबाई-चौड़ाई देखकर लोग हैरान रह गए.

दरअसल,एक रिपोर्ट्स के मुताबिक, इसे दो किसानों ने मिलकर उपजाया है, जिनके नाम टॉड और डोना स्किनर है. इन दोनों ने अपने खेत में यह कद्दू उपजाकर विश्व रिकॉर्ड बना दिया. यह मेहनत और सफलता सिर्फ एक या दो दिनों की नहीं है. ये दोनों पिछले 30 साल से कद्दू की खेती कर रहे हैं, वे चाहते थे कि कि बड़े से बड़े कद्दू उनके खेत में पैदा हो सकें.

रिपोर्ट्स के मुताबिक, इस बार इनकी मेहनत और किस्मत रंग लाई. इन दोनों ने मिलकर 2164 पाउंड यानि करीब 1000 किलोग्राम का एक ही हरा कद्दू उपजा ही लिया. डबलिन में चल रही सब्जी प्रतियोगिता में उन्होंने जब अपना उगाया कद्दू प्रदर्शित किया, तो लोग देख दंग रह गए इसी के साथ दोनों ने वर्ल्ड रिकॉर्ड बना लिया. दोनों अपनी सफलता पर काफी खुश हैं.

इन दोनों ने बताया कि इस कद्दू के वजन का अंदाजा हम लोगों को हो गया था. उधर ऑकलैंड नर्सरी की ओर से कंफर्म किया गया है कि डोना और टॉड अब दुनिया का सबसे बड़ा हरा कद्दू उगाने वाले किसान बन गए हैं. इस कद्दू का वजन 2164 पाउंड पाया गया.  

यह भी पढ़ें: घर की छत पर गमलों में लगाये ये स्वादिष्ट सब्जियां

कद्दू की तस्वीरें सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रही हैं. लोग और खास कर किसानों के बीच कद्दू को लेकर हलचल काफी बढ़ गयी है. हर कोई कद्दू का राज़ जानने के लिए बेताब है.

कद्दू का वजन और आकार ने सबका मन मोह लिया है. सिर्फ इतना ही नहीं कद्दू ने अपना स्थान वर्ल्ड रिकॉर्ड में भी हांसिल कर लिया.

English Summary: Farmer grew 10 quintals of pumpkin, made a world record

Like this article?

Hey! I am प्राची वत्स. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters