बिहार कृषि कर्मण पुरुस्कार से सम्मानित

भारत सरकार द्वारा बिहार राज्य को वर्ष 2015-16 में मोटे अनाज श्रेणी के अंतर्गत सर्वश्रेष्ठ राज्य – मक्का उत्पादन  के लिए देश के कृषि के क्षेत्र में सर्वश्रेष्ठ कृषि कर्मण पुरस्कार से सम्मानित किया गया है। देश के माननीय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा मक्का उत्पादन हेतु चयनित बिहार राज्य को यह पुरस्कार भारतीय कृषि अनुसंधान संस्थान, पूसा, नई दिल्ली में आयोजित सम्मारोह में दिया गया। यह अवार्ड कृषि विभाग, बिहार डॉ० प्रेम कुमार द्वारा प्राप्त किया गया। इसके साथ ही, माननीय प्रधानमंत्री द्वारा देश में सर्वाधिक मक्का की उत्पादकता प्राप्त करने वाले पुरूष वर्ग के लिए खगड़िया जिला के गोगरी प्रखण्ड के गौछारी ग्रामवासी अनिल कुमार को एवं महिला वर्ग के लिए खगड़िया जिला की ही परबत्ता प्रखण्ड के कुल्हड़िया ग्रामवासी नीलम कुमारी को भी कृषि कर्मण पुरस्कार से सम्मानित किया गया। इस अवसर पर केन्द्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री राधामोहन सिंह, कृषि उत्पादन आयुक्त, बिहार सुनिल कुमार सिंह, कृषि विभाग के प्रधान सचिव सुधीर कुमार, कृषि निदेशक हिमांशु कुमार राय सहित भारत सरकार के संबद्ध उच्चाधिकारी उपस्थित थे।

बिहार के कृषि मंत्री कहा कि यह अवार्ड भारत सरकार द्वारा विशेष अभियान के तहत् उच्चतर फसल उत्पादन के लिए राज्यों को प्रदान किया जाता है। इस पुरस्कार के तहत् एक प्रशस्ति पत्र एक ट्रॉफी, उद्धरण सहित 5 करोड़ रूपये भी दी जाती है। अनिल कुमार मक्का की खेती कर 149.60 क्विंटल प्रति हेक्टेयर उत्पादकता प्राप्त करने में सफल रहे, वहीं नीलम कुमारी ने 137 क्विंटल प्रति हेक्टेयर मक्का की उत्पादकता प्राप्त कर अचंभित कर दिया। महिला एवं पुरूष वर्ग में मक्का की सर्वोच्च उत्पादकता प्राप्त करने वाले इन दोनों किसानों को भी पुरस्कार स्वरूप एक-एक प्रशस्ति पत्र एवं दो-दो लाख रूपये प्रदान किया गया।

डॉ० कुमार ने कहा कि किसानों की आय दोगुनी करने के प्रधानमंत्री का संकल्प एवं मुख्यमंत्री का सपना कि देश के प्रत्येक व्यक्ति के थाली में बिहार का एक व्यंजन हो, को साकार करने के लिए कृषि विभाग, बिहार सरकार हरसंभव प्रयास कर रही है। बिहार के किसानों की कड़ी मेहनत एवं सरकार की प्रतिबद्धता के कारण ही यह पुरस्कार मिला है। उन्होंने इसके लिए राज्य के अन्नदाता किसान भाई-बहनों को कोटि-कोटि धन्यवाद दिया है।

Comments