एग्री लीडरशिप सम्मिट में कृषि की नई तकनीकों पर होगा जोर

हर बार की तरह इस बार भी आयोजित किए जाने वाले एग्री लीडरशिप सम्मिट में कृषि की नयी तकनीकों पर अधिक जोर रहेगा . ज्ञात रहे इस बार यह कार्यक्रम हरियाणा के रोहतक में 24 से 26 मार्च तक आयोजित किया जाएगा. इस साल कार्यक्रम का मुख्य बिंदु होगा जैविक खेती, सूक्ष्म सिंचाई, पैरी अर्बन खेती को बढ़ावा देना. इसके साथ ही राज्य में दूध उत्पादन में बढ़ोतरी पर जोर दिया जाएगा.

इस एग्री लीडरशिप सम्मिट में देश के कई राज्यों के कृषि मंत्री भाग लेंगे साथ ही केंद्र सरकार से भी कई मंत्री उपस्थित रहेंगे. हरियाणा के कृषि मंत्री ओमप्रकाश धनखड़ के अनुसार राज्य के किसानों की आय कैसे बढ़ाई जाए, इस पर प्रगतिशील किसान और कृषि वैज्ञानिक विचार-विमर्श करेंगे. समिट में पहले दिन बागवानी विषय, दूसरे दिन किसानों की आमदनी को दोगुना करने तथा तीसरे दिन दुग्ध उत्पादन बढाने जैसे विषयों पर चर्चा होगी. इस सम्मिट में किसानों के आकर्षण के लिए प्रतिदिन ट्रैक्टर, छोटा ट्रैक्टर और बुलेट बाइक ड्रॉ निकालकर दी जाएंगी.

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहरलाल खट्टर तीसरे एग्री लीडरशिप सम्मिट-2018 का शुभारंभ 24 मार्च को करेंगे. इस एग्री लीडरशिप सम्मिट में केंद्रीय सड़क परिवहन, राजमार्ग एवं पोत परिवहन मंत्री नितिन गडकरी, केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री राधा मोहन सिंह, केंद्रीय इस्पात मंत्री बीरेंद्र सिंह, केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण राज्य मंत्री पुरुषोत्तम रूपाला व गजेंद्र सिंह शेखावत सहित सात राज्यों के कृषि मंत्री किसानों को संबोधित करेंगे.जहाँ तक निजी क्षेत्र की कंपनियों का सवाल है तो हर साल की तरह इस बार भी इस सम्मिट में कृषि क्षेत्र की जानी-मानी कंपनियां हिस्सा लेगी.

Comments