MFOI 2024 Road Show
  1. Home
  2. ख़बरें

PM Awas Yojana 2021 के लाभार्थियों को मिल सकती है एक और बड़ी सुविधा, जानिए क्या?

प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत देश के जरुरतमंद लोगों को साल 2022 तक घर उपलब्ध करवाने के लक्ष्य के साथ प्रधानमंत्री आवास योजना देश के लगभग 700 जिलों में क्रियान्वित की जा रही है. योजना के तहत सरकार बेघर लोगों को उनका अपना घर बना कर देगी. साथ ही वैसे लोगों को सब्सिडी भी दी जाएगी जो लोग अपना घर या फ्लैट खरीदने के लिए लोन लेना चाहते हैं.

प्राची वत्स
PM Awas Yojana
PM Awas Yojana

प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत देश के जरुरतमंद लोगों को साल 2022 तक घर उपलब्ध करवाने के लक्ष्य के साथ प्रधानमंत्री आवास योजना देश के लगभग 700 जिलों में क्रियान्वित की जा रही है. योजना के तहत सरकार बेघर लोगों को उनका अपना घर बना कर देगी. साथ ही वैसे लोगों को सब्सिडी भी दी जाएगी जो लोग अपना घर या फ्लैट खरीदने के लिए लोन लेना चाहते हैं.

पीएम आवास योजना के लाभार्थी के लिए बड़ी ख़बर है. दरअसल, उद्योग संगठन CII ने प्रधानमंत्री आवास योजना को फिर से लॉन्च किये जाने को लेकर सरकार से मांग की है. इसके तहत CII ने ये मांग की है कि इसमें लाइफ इंश्योरेंस की सुविधा को अनिवार्य किया जाए. साथ ही प्रधानमंत्री आवास योजना PMAY का लोन लिए हुए लाभार्थियों के लिए अनिवार्य तौर पर इंश्योरेंस की सुविधा देने की भी मांग की गई है.

क्या है CII की मांग

दरअसल, सरकार ने प्रधानमंत्री आवास योजना  के तहत देश के सभी लोगों को घर देने की योजना बनाई है. इसके तहत उधारकर्ता की मृत्यु हो जाए या कोई विकलांग हो जाए तो उसके घर के सपने को साकार करने के लिए सरकार से लोन के साथ जीवन बीमा का लाभ देने का प्रस्ताव पेश किया है.

प्रधानमंत्री आवास योजना PMAY केंद्र सरकार के प्रमुख योजनाओं में से एक है. इसके तहत केंद्र सरकार ने साल 2022 तक यानी देश की आजादी के 75 साल पूरे होने तक सबको आवास देने का लक्ष्य तय किया है.

लक्ष्य को पूरा करने के लिए सरकार और मंत्रिमंडल अपनी ओर से हर संभव कोशिश कर रही है. इस लक्ष्य को पूरा किया जा सके इसलिए सीआईआई ने सरकार से आवास योजना के साथ लाभार्थियों को जीवन बीमा का फायदा देने की भी मांग की है.

English Summary: Beneficiaries of PM Awas Yojana 2021 will get insurance Published on: 06 October 2021, 05:54 PM IST

Like this article?

Hey! I am प्राची वत्स. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News