1. ख़बरें

कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा- भारत नारियल उत्पादन व उत्पादकता में सबसे आगे है, किसानों को मिल रहा अच्छा रोजगार

कंचन मौर्य
कंचन मौर्य
Agriculture News

Agriculture News

एशिया व प्रशांत क्षेत्र के लिए संयुक्‍त राष्‍ट्र आर्थिक और सामाजिक आयोग के तत्‍वावधान में स्थापित, नारियल उत्पादक देशों के अंतर शासकीय संगठन इंटरनेशनल कोकोनट कम्युनिटी के स्‍थापना दिवस के स्‍मरणोत्‍सव में विश्‍व नारियल दिवस मनाया गया.

इस समारोह में मुख्य अतिथि केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा कि भारत ने नारियल के क्षेत्र में काफी प्रगति की है. भारत नारियल के उत्पादन व उत्पादकता में सबसे आगे है और विश्व में तीसरे स्थान पर हैं. साल 2020-21 के दौरान देश में नारियल का उत्पादन 21207 मिलियन टन रहा है, जो कि वैश्विक उत्‍पादन का 34 प्रतिशत है. उत्‍पादकता प्रति हेक्‍टेयर 9687 टन है, जो विश्व में सर्वाधिक है. नारियल के नए उत्‍पाद व उद्योग बढ़ रहे है, जिससे किसानों को रोज़गार मिल रहा है.

विश्व नारियल दिवस समारोह का विषय

इस वर्ष 23वें विश्व नारियल दिवस समारोह के लिए विषय है- ‘कोविड-19 महामारी के बीच व उसके उपरांत सुरक्षित, समावेशी, सुदृढ़ और सुस्थिर नारियल समुदाय का विनिर्माण’. इस दिवस के प्रति जागरूकता बढ़ाने व राष्‍ट्रीय-अंतर्राष्‍ट्रीय स्तर पर ध्‍यानाकर्षण करने के लिए नारियल विकास बोर्ड द्वारा आयोजित विश्व नारियल दिवस पर केंद्रीय मंत्री तोमर ने कहा कि देश की अर्थव्‍यवस्‍था में नारियल का काफी मजबूत प्रभाव पड़ा है.

उन्होंने किसानों व उद्यमियों से आग्रह किया कि वे नारियल क्षेत्र की क्षमताओं का भरपूर फायदा उठाएं, उनके प्रयासों में केंद्र सरकार उनके साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़ी हुई है. केंद्र द्वारा कृषि बजट बढ़ाने के साथ एमएसपी का लाभ किसानों को दिया जा रहा है.

कृषि प्रधान देश में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में केंद्र सरकार के प्रयास उल्लेखनीय है. हमेशा से पीएम मोदी किसानों की आय बढ़ाने के लिए प्रयास कर रहे हैं. कृषि उपज गुणवत्तापूर्ण व वैश्विक मानकों के अनुरूप होना चाहिए, जिससे निर्यात भी बढ़ेगा.

केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्‍याण राज्‍य मंत्री ने क्या कहा

केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्‍याण राज्‍य मंत्री शोभा करंदलाजे ने कहा कि हमारे किसान लघु व सीमांत श्रेणी के हैं, इसलिए देशीय नारियल उद्योग का भविष्य फार्म स्तर पर ही नारियल के उत्पादन का संचयन एवं एकत्रीकरण करने से तय होता है. किसानों को बेहतर आय प्राप्ति के लिए प्रसंस्करण व मूल्‍यवर्धन करने, उत्पाद विविधीकरण अपनाने पर ध्यान दिया जा रहा है.

राज्‍य मंत्री कैलाश चौधरी का क्या है कहना

राज्‍य मंत्री कैलाश चौधरी ने कहा कि देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा किसानों की आय बढ़ाने के लिए नारियल उत्पादकों को लाभ पहुंचाया जा रहा है. केंद्र सरकार किसानों के लिए समर्पित है और कृषि क्षेत्र प्राथमिकता है,  इसीलिए कृषि बजट भी काफी बढ़ाया गया है. कृषक उत्पादक संगठनों (एफपीओ) के माध्यम से भी बड़ी संख्या में सुविधाएं मिलेगी.

इस समारोह में कृषि एवं किसान कल्‍याण सचिव संजय अग्रवाल ने भी संबोधित किया. इसके साथ ही संयुक्त सचिव व नारियल विकास बोर्ड के अध्यक्ष राजबीर सिंह ने प्रेजेन्टेशन दिया. इसके अलावा समारोह में मंत्रालय व बोर्ड के अन्य वरिष्‍ठ अधिकारी, विभिन्न राज्य बागवानी मिशनों के अधिकारी व अग्रणी किसानों ने भाग लिया. इतना ही नहीं, नारियल उत्पादक किसानों के लिए तकनीकी सत्र भी आयोजित किया गया.

English Summary: agriculture minister narendra singh tomar told india at the fore in coconut production and productivity

Like this article?

Hey! I am कंचन मौर्य. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News