आपके फसलों की समस्याओं का समाधान करे
  1. मशीनरी

गेहूं काटने की सबसे सस्ती मशीन, दो घंटे में करें एक एकड़ की कटाई

श्याम दांगी
श्याम दांगी

Brush Cutter

किसानों को गेहूं या अन्य फसलों की कटाई करते समय सबसे बड़ी दिक्कतें मजदूरों की आती है. दरअसल, फसल कटाई के समय मजदूर आसानी से नहीं मिलती है ऐसे में ब्रश कटर किसानों के लिए बेहद मददगार साबित हो सकती है. ब्रश कटर की मदद से फसल काटने के अलावा खेती से जुड़े कई कार्य किये जा सकते हैं. इस मशीन की सहायता से आप गेहूं समेत सभी खड़ी फसल जैसे चना, बरसीम, ज्वार, मक्का, चारा आसानी से काट सकते हैं. यूं तो बाजार में कई तरह के ब्रश कटर मौजूद है. हम आपको आज शक्तिमान ब्रश कटर के बारे में बताने जा रहे हैं जो किसानों के लिए काफी फायदेमंद होता है. 

15 हजार रुपये है कीमत

इस कटर का निर्माण राजस्थान के जयपुर स्थित फार्म साथी एग्रो इंडस्ट्री करती है. कंपनी के एमडी अविनाश ने बताया कि उनकी कंपनी ब्रश कटर का निर्माण करती है जिससे आसानी से सभी प्रकार की खड़ी फसल काटी जा सकती है. इस मशीन की सहायता से चार आदमी का काम आसानी से किया जा सकता है. यह मशीन 2 और 4 स्ट्रोक में मिलती है जिसकी कीमत 13 से 15 हजार तक होती है. पेट्रोल से चलने वाली इस मशीन से महज 2 घंटे में एक एकड़ की खड़ी फसल काटी जा सकती है.  

 

पांच साल पहले शुरू किया बिजनेस

अविनाश का कहना हैं कि उन्होंने पांच साल पहले ही यह कृषि यंत्र निर्माण का कार्य शुरू किया है. वे खुद भी किसान परिवार से ताल्लुक रखते हैं इसलिए किसानों की परेशानियों को अच्छी तरह जानते हैं. हमने शुरू में लोकल मार्केट से ही यह कार्य शुरू किया लेकिन आज देशभर में उनके कृषि यंत्र किसानों के पास पहुँच रहे हैं. ब्रश कटर के साथ विभिन्न प्रकार की ब्लेड्स आती है जिनसे एक सीजन की 25 बीघा जमीन की फसल कटाई की जा सकती है. इसके बाद किसानों को 250 से 550 रुपये की कीमत में ब्लेड्स आसानी से मिल जाती है.

अधिक जानकारी के लिए संपर्क करें

नाम-अविनाश

मोबाइल नंबर-9667782200

पता -जयपुर, राजस्थान 

English Summary: Use Shaktimaan Brush Cutter to harvest wheat, harvest an acre in two hours

Like this article?

Hey! I am श्याम दांगी. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News