MFOI 2024 Road Show
  1. Home
  2. मशीनरी

जुगाड़ से बनाए Herbicide Applicator यन्त्र, खरपतवार को जड़ से ख़त्म कर देगा

किसी भी फसल की अधिक पैदावार लेने के लिए अच्छी किस्म के बीज, सही मात्रा में पोषक तत्वों की पूर्ति करने के साथ ही खरपतवार नियंत्रण भी बहुत आवश्यक होता है. खरपतवार नियंत्रण के लिए हम विभिन्न कीटनाशकों का उपयोग करते हैं. खेतों में कीटनाशक के छिड़काव के लिए प्राय: हम नैपसैक स्प्रेयर का उपयोग करते हैं. लेकिन इससे सीधे छिड़काव की वजह से खरपतवार तो नष्ट हो जाते हैं लेकिन यह हमारी फसल को भी नुकसान पहुंचाता है. इसके लिए बिहार के सबौर स्थित बिहार एग्रीकल्चरल यूनिवर्सिटी के इंजीनियर्स ने एक जुगाड़ का यन्त्र बनाया है जिसे हर्बीसाइड एप्लीकेटर (Herbicide Applicator) नाम दिया है जिससे फसल को बिना नुकसान पहुंचाए आसानी से कीटनाशक का छिड़काव किया जा सकता है. सबसे अच्छी बात यह है कि इस यन्त्र को आप बहुत कम खर्च में घर पर बना सकते हैं.

श्याम दांगी
Herbicide Applicator
Herbicide Applicator

किसी भी फसल की अधिक पैदावार लेने के लिए अच्छी किस्म के बीज, सही मात्रा में पोषक तत्वों की पूर्ति करने के साथ ही खरपतवार नियंत्रण भी बहुत आवश्यक होता है. खरपतवार नियंत्रण के लिए हम विभिन्न कीटनाशकों का उपयोग करते हैं. 

खेतों में कीटनाशक के छिड़काव के लिए प्राय: हम नैपसैक स्प्रेयर का उपयोग करते हैं. लेकिन इससे सीधे छिड़काव की वजह से खरपतवार तो नष्ट हो जाते हैं लेकिन यह हमारी फसल को भी नुकसान पहुंचाता है. इसके लिए बिहार के सबौर स्थित बिहार एग्रीकल्चरल यूनिवर्सिटी के इंजीनियर्स ने एक जुगाड़ का यन्त्र बनाया है जिसे हर्बीसाइड एप्लीकेटर (Herbicide Applicator) नाम दिया है जिससे फसल को बिना नुकसान पहुंचाए आसानी से कीटनाशक का छिड़काव किया जा सकता है. सबसे अच्छी बात यह है कि इस यन्त्र को आप बहुत कम खर्च में घर पर बना सकते हैं.

कैसे काम करता है यह यन्त्र (How does this device work)

संस्थान के इंजीनियर सतीश कुमार का कहना है कि खरतपवार को हटाने के लिए इस हर्बीसाइड एप्लीकेटर यन्त्र का उपयोग किया जाता है. इस यन्त्र को एक इंसान सफलतापूर्वक चला सकता है. इसमें पांच लीटर का एक टैंक होता है जो कि कीटनाशक भरा जाता है. 

जो एक पाइप की मदद से यन्त्र पर लगे ड्रिपर तक पहुंचता है. ड्रिपर से कीटनाशक सीधे खरपतवार पर पहुंचने की बजाय पहले फोम पर लगने के बाद फिर घास पर जाता है. जिससे फसल पर सीधे केमिकल का कोई असर नहीं पड़ता है. यह यंत्र छोटे और मझोले किसानों के लिए काफी उपयोगी होता है. इस यन्त्र से एक से डेढ़ घंटे में एक एकड़ जमीन कवर की जा सकती है.   

किन फसलों के लिए उपयोगी (For which crops it is useful)

इस यंत्र का निर्माण करने वाले इंजीनियर अशोक कुमार ने बताया कि इसका उपयोग मक्का की फसल के लिए कर सकते हैं. वहीं यह उन किसानों के लिए काफी उपयोगी है जो विभिन्न प्रकार की सब्जियां उगाते हैं. उनका कहना है कि नैपसैक स्प्रेयर के प्रयोग से कीटनाशक का असर सब्जियों पर सीधे पड़ता है जिसके कारण फसल नष्ट होने की ज्यादा सम्भावना रहती है. इस यन्त्र के उपयोग से कीटनाशक का क्यारियों में लगी फसल प्रभावित नहीं होती है.

कैसे बनाए यन्त्र  (How to make machine)

इस यन्त्र को आप 5 से 6 हजार रुपये में आसानी से बना सकते हैं. इसके लिए 10 फीट का एल्युमिनियम पाइप ( 1 इंच में) लेंगे. जिसे दो भागों में काट लेते हैं और दो हैंडल बना लेते हैं. वहीं इसके लिए एक 5 लीटर के टैंक की जरुरत पड़ेगी जिसमें कीटनाशक भरा जाता है. इसके अलावा एक प्लास्टिक नली, नल के वॉल्व, एक पौने इंच का पीवीसी पाइप, 6 ड्रिपर, दो इंच का 1 X 1 फीट का फोम, एक 6 इंच का पीवीसी पाइप, दो बैरिंग, तीन प्लास्टिक पहिया जो आमतौर पर जनरेटर में लगाते हैं, गार्ड के लिए एक आधा फीट बाय एक फीट चद्दर, नट बोल्ट,  टैंक को फ़ीट करने के लिए एंगल, रोलर के लिए पीवीसी पाइप, फेविकोल, फोम को गन्दा होने से बचाने के लिए एक कपड़े की जरुरत पड़ती है. जिसे कृषि यंत्रों का काम करने वाले कारीगरों से असेम्बल करा लिया जाता है. 

English Summary: Use Herbicide Applicator for weed control in vegetable crop will eliminate fodder from the root Published on: 24 December 2020, 06:23 PM IST

Like this article?

Hey! I am श्याम दांगी. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News