1. मशीनरी

पावर टिलर करता है खेती के कई काम आसान, जानें इसकी कीमत

कंचन मौर्य
कंचन मौर्य

Power tiller

आधुनिक समय में बैलों से खेती करने का चलन लगभग खत्म हो गया है. अब बाजार में किसानों को कई नए तरह के कृषि यंत्र उपलब्ध कराए जाते हैं. इन पर सरकार की तरफ से छूट भी दी जाती है. बता दें कि खेतीबाड़ी में जुताई को विशेष स्थान दिया गया है, क्योंकि फसल का अच्छा उत्पादन खेत की बेहतर जुताई पर निर्भर होता है. इसमें किसान कई कृषि यंत्रों की मदद ले सकता है. इसमें पावर टिलर भी शामिल है. यह खेत की जुताई में महत्वपूर्ण स्थान रखता है. कई बार किसान आर्थिक तंगी के कारण महंगे कृषि यंत्र का उपयोग नहीं कर पाता है.

ऐसे में सरकार ने लघु और सीमांत किसानों के लिए पावर टिलर (Power Tiller) कृषि यंत्र की सुविधा उपलब्ध कराई है. इस कृषि यंत्र से छोटे किसानों को बड़ा लाभ मिलता है. यह कृषि यंत्र न सिर्फ़ खेती की जुताई में काम आता है, बल्कि फसल में खरपतवार की निराई का खर्च भी बचाता है.

क्या है पावर टिलर ? (What is power tiller?)

यह खेतीबाड़ी की एक ऐसी मशीन है, जो खेत की जुताई से लेकर फसल की कटाई तक बहुत काम आती है. इस मशीन द्वारा फसल की निराई, सिंचाई, मड़ाई और ढुलाई करना बहुत आसान हो जाता है.

कैसे काम करता है पावर टिलर

जिस प्रकार देसी हल में एक सीध पर बुवाई की जाती है, वैसे ही इस मशीन से बुवाई की जाती है. खास बात है कि पावर टिलर में अन्य कृषि यंत्र को जोड़कर कई कामों में मदद ली जा सकती है. बता दें कि पावर टिलर ट्रैक्टर की तुलना में बहुत हल्का और चेन रहित होता है. इस मशीन को चलाना भी बहुत सरल है, जिसको कई कंपनियां बनाकर तैयार करती हैं. इस मशीन को पेट्रोल और डीज़ल, दोनों से चला सकते हैं.

किसान के कई काम करता है आसान

  • यह मशीन खेती की जुताई से लेकर फसल बुवाई तक में मददगार है.

  • पावर टिलर में में पानी का पंप जोड़कर किसान तालाब, पोख़र, नदी आदि से पानी निकाल सकता है.

  • इसमें थ्रेसर, रीपर, कल्टीवेटर, बीज ड्रिल मशीन आदि भी जोड़ी जा सकती हैं.

  • पावर टिलर काफी हल्की मशीन होती है, जिसको आसानी से कहीं भी ले जा सकते हैं.

पावर टिलर पर सरकारी सब्सिडी (Get government subsidy)

सरकार द्वारा पावर ट्रिलर पर दो तरह से छूट दे जाती है. बता दें कि 8 हॉर्सपावर के टिलर पर लगभग 40 प्रतिशत सब्सिडी मिलती है. अगर अनुसूचित जाति और जनजाति का कोई किसान पावर टिलर खरीदता है, तो उनके लिए लगभग 50 प्रतिशत सब्सिडी का लाभ दिया जाता है. ध्यान दें कि इस मशीन की कुल कीमत लगभग 1 लाख रुपए तक की है.

किन किसान को मिलती है सरकारी सब्सिडी (Which farmer gets government subsidy)

वैसे पावर टिलर को कोई भी किसान खरीद सकता है, लेकिन सरकार द्वारा दी गई सब्सिडी का लाभ केवल लघु और सीमांत किसानों को दिया जाता है. ध्यान दें कि किसान को पावर टिलर खरीदते समय पूरा पैसा लगाना होगा, क्योंकि इसके बाद ही आप सरकारी सब्सिडी का लाभ उठा पाएंगे.

पावर टिलर के लिए रजिस्ट्रेशन (Registration for power tiller)

अगर कोई किसान सब्सिडी पर पावर टिलर खरीदना चाहता है, तो उसे अपने जिले के कृषि विभाग की वेबासाइट पर रजिस्ट्रेशन करना होगा, साथ ही कृषि विभाग को एक प्रार्थना पत्र भी लिखना होगा. इसके बाद कृषि विभाग जल्द ही आपसे संपर्क करता है.

English Summary: Power tiller eases many farming tasks

Like this article?

Hey! I am कंचन मौर्य. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News