1. लाइफ स्टाइल

AC और Cooler से बचने के लिए पहनें इस तरह के सुपर कूल कपड़े

मनीशा शर्मा
मनीशा शर्मा

गर्मियों का मौसम शुरू हो गया है. ऐसे में लोग घरों से बाहर निकलने से भी डरते है. क्योंकि सूरज की तेज़ किरणों की वजह से हमें कई तरह की शारीरिक समस्याएं होने का डर रहता है. जैसे -डिहाइड्रेशन, स्किन प्रॉब्लम , लू लगना आदि. आज हम आपको बताएंगे कि गर्मियों किस तरह के कपड़े पहने की आप इस तेज़ गर्मी से बच सके.

कॉटन के कपड़े

जिन लोगों को गर्मियों में बहुत पसीना आता है, वे इस समस्या से बचने के लिए कॉटन के कपड़े पहने. क्योंकि कॉटन का कपड़ा पसीने को एब्जॉर्ब कर जल्दी सूखा देता है. जिससे आपके शरीर में बैक्टीरिया पैदा होने का ख़तरा काफी हद तक कम हो जाता है. कॉटन के कपड़े शरीर को ठंडक प्रदान भी करते है. इसलिए जितना हो सके कॉटन के कपड़ों को ही पहने. अब तो कॉटन में भी फेशनेबल डिज़ाइन आ गए है.

हल्के रंग के कपड़े

गर्मियों के मौसम में अगर आप ठंडक महसूस करना चाहते है तो आप हल्के रंग के कपड़े पहने जैसे- सफेद रंग , हल्के पीले, आसमानी रंग, हरा आदि रंगों के कपड़े पहनें. ये रंग आपको गर्मियों में सूरज की तेज़ किरणों से बचाने में काफी लाभकारी है. क्योंकि ये सूरज की तेज गर्मी को पूरी तरह एब्जोर्ब नहीं करते. अगर आप गहरे रंग के कपड़े पहनते है तो वो ज्यादा हीट को एब्जोर्ब कर के आपको गर्मी का एहसास करवाते है.

ढीले कपड़े पहनें

आज कल की पीढ़ी तो टाइट कपड़े की शौकीन है. परंतु गर्मियों के मौसम में जितना हो सके टाइट कपड़े पहनने से बचें, क्योंकि ज्यादा टाइट कपड़ों से आपके शरीर में  ब्लड सर्कुलेशन की गति बिगड़नी शुरू हो जाती है. जिस वजह से आपके शरीर में कई समस्याएं होने लगती हैं. इसलिए जितना हो सके ढीले कपड़ों को पहने.

सिंथेटिक फैब्रिक न पहने

गर्मियों के मौसम में  जितना हो सके सिंथेटिक फैब्रिक वाले कपड़े पहनने से बचें, क्योंकि इन कपड़ों में हवाअच्छे से पास नहीं हो पाती है, जिस वजह से पसीना आने पर वो सूख नहीं पाता। जिस वजह से आपके शरीर में  बैक्टीरिया बढ़ने से पसीने में बदबू पैदा हो जाती है.

English Summary: what type of clothes to wear in summer

Like this article?

Hey! I am मनीशा शर्मा. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News