Lifestyle

भीषण गर्मी में अपनाएं यह टिप्स, होगा अहम फायदा

इन दिनों देश की राजधानी समेत अधिकांश हिस्सों में भीषण गर्मी और लू ने सभी लोगों का जीना मुहाल कर दिया है.इस वक्त गर्मी का आलम यह है कि कई शहरों में तापमान तो 45 डिग्री या सके पार निकल गया है. राजस्थान राज्य के चुरू में तो तापमान 50 डिग्री सेल्सियस के पार हो गया है. इस गर्मी के चलते देश के कई हिस्सों में लोगों की मौत होने लगी है. भीषण गर्मी के संपर्क में आने से शरीर में व्यक्ति को ऐंठन, थकावट, हीट-स्ट्रोक और कई तरह की स्वासथय संबंधी परेशानी को झेलना पड़ता है. यही वजह है कि गर्मी के मौसम मेंडॉक्टर भी लोगों को ज्यादा से ज्यादा पानी पीने की सलाह देकर शरीर को हाइड्रेटेट रखने की सलाह देते है. तो आइए जानते है ऐसे ही कुछ टिस के बारे में जिनको जानकर आप गर्मी के कहर से निजात पा सकते है.

धूप से बचें

तापमान अधिक होने पर धूप में लंबे समय तक रहने से बचें. आप इसके लिए सन क्रीम लोशन का इस्तेमाल कर सकते है. गर्मी में निकलते समय आप आसानी से छतरी का उपयोग कर सकते है. आप सुबह 11 से शाम 4 बजे तक धूप में जाने से बचें.

गर्मी में हाइड्रेड

गर्मी के मौसम में ठीक से बाहर निकलने से पहले यह बात अच्छी तरह से विचार कर लें कि आप पूरी तरह से ग्रमी के मौसम में हाइट्रेड है या नहीं. गर्मियों में पानी की जरूरत सर्दियों के मुकाबले 500 मिली मीटर ज्यादा होती है.

धूप से सुरक्षा

जब भी आप धूप में निकले तो आप अपने शरीर और चेहरे को पूरी तरह से ढक लें. आप घर से कच्चा प्याज को साथ में लेकर निकले, कोशिश करें कि आप कैप, सनक्रीम, लोशन, चश्मा आदि का ज्यादा गर्मी के मौसम में इस्तेमाल करें.

तरल पेय पदार्थ शामिल कर

गर्मी के मौसम में ठोस आहार की जगह तरल पेय पदार्थ जैसे की ठंडा पानी, नींबू, फलों का रस, कैरी का पना, छाछ और लस्सी ज्यादा मात्रा में लें. इन सभी चीजों के साथ शरीर में तरावट बने रहने के साथ ही ऊर्जा का स्तर भी बना रहता है.

हल्के व्यायाम से परहेज न करें

गर्मी और उमस में किया गया वर्क आउट शरीर को थकाने के लिए काफी होता है. इसीलिए आप रोजाना हल्का व्यायाम, आसान, योग आदि से परहेज न करे.



English Summary: These tips will keep your health healthy during summer.

Share your comments


Subscribe to newsletter

Sign up with your email to get updates about the most important stories directly into your inbox

Just in